सूखे से परेशान विदर्भ के किसान

 22 May 2019  161

संवाददाता/in24 न्यूज़.

महाराष्ट्र के विदर्भ की जहां पर सूखे की मार से किसान परेशान हैं.विदर्भ के किसानो की परेशानी कम होने का नाम ही नहीं ले रही, इस साल विदर्भ के किसानों की समस्याओं का कारण है सूखा,विदर्भ के अमरावती जिले में सूखा पड़ने की वजह से केला, संतरा और दूसरी फसले पूरी तरह सूख चुकी है. विदर्भ के किसान कभी ज़्यादा बारिश तो कभी सूखे की मार से परेशान नज़र आते हैं, और उनकी यही परेशानी उन्हे खुदकुशी करने पर मजबूर करती है, विदर्भ में बीते वर्ष बारिश कम होने करण आज सुखे की स्थिति बन चुकी है।  अमरावती जिले में संतरा  और केले की फसल पुरी तरह से बर्बाद हो रही हैं।  किसान खेतो को हरा भरा रखने के लिये बैंको से कर्ज लेता है. लेकिन जब आसमानी  अफतो से फसले बर्बाद हो जाती है तब किसान को एक ही रास्ता नजर आता है वो होती है राज्य सरकार की तरफ से मिलने वाली  सुखराहत के रूप में मदद.लेकिन जब  सरकार भी ऊंट  के मुंह में जीरा जैसी मदद करे तो यह किसान अपने परिवार का पालन पोषण  करने में असमर्थ हो जाता। वही बैंको के कर्ज का  बोझ उस के सर मंडराता रहता है.ऐसे में किसान परेशान हो कर आखरी रास्ता अपनाता है और वह  आत्महत्या जैसा कदम उठकर अपने आप को समाप्त कर देता है। इस अकाल स्थिति में सरकार की उदासीनता भी साफ नज़र आती है। फिलहाल अमरावती जिले के अचलपुर, चांदूर बाज़ार, मोर्शी, चांदूर रेल्वे जैसे इलाको में अकाल की स्थिति भयानक बनी हुई है। और खेतो में बने कुएं भी पूरी तरह से सुख चुके है झरनों में पानी नही और सरकार का इस तरफ कोई ध्यान नही होने से किसान दुखी नज़र आ रहा है। इस इलाके का  संतरा मुंबई, केरला, कलकत्ता, राजस्थान जाता है जहाँ से  किसानो को अच्छा लाभ मिलता है । वही केला महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, आन्ध्र प्रदेश जाता है लेकिन फसल ही बर्बाद हो चुकी है तो इस वर्ष संतरा और केला  की मांग बढती नज़र आ रही है।