धर्मेंद्र प्रधान ने माना पेट्रोल की महंगाई से जनता है परेशान

 08 Sep 2018  34
पेट्रोल-डीजल की कीमतों ने माध्यम वर्ग के लोगों की ज़ेब में लगातार आग लगाने का काम किया है. इसी मुद्दे को देखते हुए पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने इस पर चिंता जताई है. गौरतलब है कि दिल्ली और अन्य महानगरों में पेट्रोल की कीमत 80 रुपए के पार पहुंच गई है. प्रधान के अनुसार पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से लोगों को दिक्कत हो रही है. केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि पेट्रोलियम उत्पाद की कीमतों में यह उछाल डॉलर के मुकाबले रुपए के कमजोर होने की वजह से हुआ है. प्रधान ने कहा कि डॉलर के मुकाबले रुपए की घटती कीमत की वजह से देश में पेट्रोल और डीजल की कीमत बढ़ी है. उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के अंतर्गत लाने की जरूरत है.प्रधान ने कहा कि मैं मानता हूं कि लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि पेट्रो पदार्थों की कीमतों में लगातार वृद्घि होने का सबसे बड़ा कारण अंतरराष्ट्रीय राजनीतिक और आर्थिक स्थिति है. अब यह जरूरी हो गया है कि पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाए.उन्होने कहा कि देश को करीब 15,000 करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है. यदि पेट्रोल, डीजल को जीएसटी के तहत लाया जाता है तो यह उपभोक्ताओं सहित सभी के हित में होगा. बता दें कि पेट्रोल-डीजल के दाम नए रिकॉर्ड स्तरों को छू रहे हैं. देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 80.38 रुपए और डीजल की कीमत 72.51 रुपए प्रति लीटर के तक पहुंच गई है. इसके अलावा आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 87.77 और डीजल 76.98 रुपए प्रति लीटर पर मिल रहे हैं.