ओएनजीसी को 76.66 अरब के सर्विस टैक्स का नोटिस

 24 Sep 2018  158
संवाददाता/in24 न्यूज़. इनकम टैक्स विभाग ने ओएनजीसी विदेश लिमिटेड को पिछले एक दशक से विदेशी सहायक कंपनियों को रेमिटेंस पर 76.66 अरब रुपये की सर्विस टैक्स की की है. ओवीएल राज्य के स्वामित्व वाली तेल और प्राकृतिक गैस कॉर्प (ओएनजीसी) की विदेशी शाखा, वेनेज़ुएला से न्यूजीलैंड तक फैले 20 देशों में 41 परियोजनाओं में हिस्सेदारी रखती है. सर्विस टैक्स विभाग का कहना है कि विदेशी इकाइयां ओवीएल को सेवा प्रदान कर रही हैं और इस तरह कंपनी पूरी तरह से सेवा कर का भुगतान करने के लिए जिम्मेदार है. टैक्स की मांग 2006 से 2017 के बीच संबंधित है. टैक्स राशि की गणना 1 अप्रैल 2006 से 31 मार्च 2010 तक की अवधि को कवर करने वाली कंपनी के वित्तीय विवरणों में रिपोर्ट की गई विदेशी मुद्रा व्यय के आधार पर की गई थी. सूत्रों के अनुसार टैक्स विभाग का तर्क है कि ये खर्च विदेशी शाखाओं और ओवीएल को संयुक्त उद्यम / संघ के ऑपरेटर द्वारा प्रदान की जाने वाली व्यावसायिक सहायक सेवाओं का प्रतिनिधित्व करते हैं.