नोटबंदी का दूसरा साल

 08 Nov 2018  27

संवाददाता/in24 न्यूज़।  

आज के ही दिन नोटबंदी की शुरुआत हुई थी यानी 8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी . एक ओर सरकार नोटबंदी को आर्थिक सुधार की क्रांति बताती है तो विपक्ष के लोग इसे त्रासदी कहते हैं.

वित्त मंत्री जेटली ने नोटबंदी के दो वर्ष पूरे होने पर खुलासा किया कि इसका मकसद लोगों के पास पड़े कैश जब्त करना नहीं, बल्कि उसे फॉर्मल इकॉनमी सिस्टम में लाना था. जो लोग देश से टैक्स चोरी करते थे उनसे टैक्स वसूलना भी नोटबंदी का लक्ष्य था.

 

दो वर्ष पूरे होने पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने नोटबंदी की उपलब्धियां गिनाई है जबकि पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा कि नोटबंदी के दुष्परिणाम दिन-प्रतिदिन सामने आ रहे हैं.

बड़े मुद्दों पर जेटली अक्सर सोशल मीडिया पर अपनी राय जाहिर करते हैं उन्होंने फेसबुक पोस्ट लिखकर कहा कि नगदी प्रधान भारत को डिजिटाइजेशन की ओर लाने के लिए पूरे सिस्टम को मथना जरूरी था. जेटली ने कहा नोटबंदी से ब्लैक मनी पर लगाम लगा है इसके साथ ही डिजिटल ट्रांजैक्शन और टैक्स कलेक्शन में भी वृद्धि हुई है.