रिज़र्व बैंक ने ब्याज दरों में 25 फीसदी की कटौती की

 04 Apr 2019  188

संवाददाता/in24 न्यूज़.  

ब्याज दरों में उतार-चढ़ाव का दौर चलता रहता है. इसी कड़ी में भारतीय रिजर्व बैंक ने गुरुवार को वित्तीय वर्ष 2019-20 की पहली द्विमासिक मौद्रिक नीति बैठक में ब्याज दरों में 0.25 फीसदी की कटौती की है. आरबीआई ने रेपो रेट 6.5 फीसदी से घटाकर 6 फीसदी कर दिया है. 2016 के अंत में मौद्रिक नीति समिति के गठन के बाद से केंद्रीय बैंक द्वारा कटौती की गई यह पहली बैक-टू-बैक दर थी. अपनी आखिरी पॉलिसी मीट (फरवरी) में गवर्नर शक्तिकांत दास की अगुवाई में पहली बार केंद्रीय बैंक ने रेपो दर को 25 आधार अंकों (बीपीएस) या 0.25 प्रतिशत से घटाकर 6.25 प्रतिशत कर दिया था. रेपो दर वह दर है, जिस पर भारतीय रिज़र्व बैंक वाणिज्यिक बैंकों को कर्ज देता है. एमपीसी ने 25 कट पॉइंट रेट कट के पक्ष में 4: 2 वोट दिए. नया रिवर्स रेपो दर 5.75 प्रतिशत है. इससे पहले अर्थशास्त्रियों और बाजार विशेषज्ञों ने महंगाई और मुद्रास्फीति की दर में वृद्धि के बीच देश और विदेश दोनों में दर में कटौती की भविष्यवाणी की थी. मुद्रास्फीति सीधे सात महीनों के लिए आरबीआई के 4 प्रतिशत लक्ष्य से नीचे रही है.