18 साल से कैदी नहीं आया वापिस

 27 Apr 2018  26

संवाददाता/in24 न्यूज़

कैदियों पर जेल परिसर सख्त निगरानी रखता है। यदि कोई कैदी जेल से पेरोल पर बाहर हो और वापस जेल में हाजिर ही न हो तो इसमें काफी अचंभेवाली बात लगती है लेकिन ऐसा सच साबित किया है पुणे की येरवडा जेल के एक कैदी बीते 18 वर्ष से पेरोल पर बाहर है।  येरवडा जेल के अधिकारियों ने 18 साल बाद फरार कैदी का मामला दर्ज कराकर एक अनोखा रिकॉर्ड कायम किया है।

वर्ष 2000 में पेरोल पर छूटा अभियुक्त दंडप्पा लिंगप्पा पुजारी वापस जेल में लौटा ही नहीं। इतने सालों बाद नींद से जागे येरवडा जेल प्रशासन ने उसके निवास की जगह अंबरनाथ पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया है। अंबरनाथ के बुआ पाड़ा इलाके में 1991 में हत्या हुई थी और जिसके आरोपी  दंडप्पा लिंगप्पा पुजारी को वर्ष 1995 में न्यायलय ने आजीवन कारावास का सजा सुनाया था।  

वह कारावास के दौरान अच्छा बर्ताव कर रहा था, जिसके कारण उसे 26 फरवरी 2000 को 14 दिनों के पैरोल पर छोड़ा गया था। यह अवधि पूरी होने पर उसे 12 मार्च 2000 को जेल में हाजिर होना था, लेकिन वह हाजिर नहीं हुआ। 18 वर्ष बाद जब आरोपी पुजारी जेल में नहीं मौजूद रहा तब जेल प्रशासन रिकॉर्ड खंगाला तब उन्हें पता चला पुजारी अब तक जेल में आया नहीं और फिर पुलिस ने पुजारी पर मुकदमा दर्ज किया।