अलीगढ में बच्ची की हत्या के दोषियों को सड़क पर जला दो - साध्वी प्राची

 08 Jun 2019  30

संवाददाता/in24 न्यूज़।

अलगीढ़ में ढाई वर्ष की बच्ची की नृशंस हत्या के मामले मेंअब लोगों का गुस्सा चरम पर है। हत्या के बाद मासूम बच्ची का शव कूड़े के ढेर में फेंके जाने के मामले में साध्वी प्राची ने कहा कि इस हत्या के सभी आरोपियों को सड़क पर पेट्रोल डालकर फूंक दिया जाए, तभी इस तरह की हरकत को अंजाम देने वालों में दहशत फैलेगी। साध्वी प्राची ने कहा कि कहते हैं ये लोग रमजान महीने में और वो भी रोजे के दिन पानी तक नही पीते, इन्होंने तो बच्ची का खून पिया है ऐसे लोगो को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। यह भी कहा कि मोमबत्ती लेकर खड़े होने वालों अब मोमबत्ती लेकर खड़े होने से काम नहीं चलेगा, इन दरिंदों को पेट्रोल डालकर जलाओ तो दरिन्दगी कम हो जाएगी।अगर ऐसा नहीं होता है तो कुछ दिन जेल में रहने के बाद यह लोग फिर बाहर आकर नया कांड करेंगे।अलीगढ़ में ढाई साल की मासूम बच्ची की हत्या के मामले को लेकर विश्व हिंदू परिषद की नेता साध्वी प्राची का गुस्सा फूट पड़ा। बागपत के बड़ौत पहुंची साध्वी प्राची ने कहा कि ढाई वर्ष की बच्ची की निर्मम हत्या के मामले में दोषियों को कड़ी सजा दी जाए।साध्वी ने कहा कि दोषियों को पेट्रोल डालकर सड़कों पर जिंदा जलाया जाए। उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ से मांग करते हुए कहा कि बदमाशों का नहीं बल्कि दुष्कर्म करने वालों का एनकाउंटर किया जाए। इससे पहले पीडि़ता की मां ने पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ से मांग की है कि दोषियों को कड़ी सजा दी जाए। अगर दोषियों को केवल सात वर्ष कैद की सजा दी जाएगी, तो यह जेल से छूटकर और अपराध करने को प्रोत्साहित हो सकते हैं।पूर्व सांसद बिजेंद्र सिंह ने बच्ची के घर पहुंचकर परिवार के लोगों को सांत्वना दी। उन्होंने अफसरों से मांग की है कि इस घटना को अंजाम देने वालों को कड़ी सजा दिलाई जाए। अपराधी कोई भी हो, उसे बख्शा न जाए। हिंदू छात्र वाहिनी के संस्थापक अध्यक्ष व छात्रनेता आदित्य पंडित ने दोषियों को सजा दिलाने की मांग की है। राष्ट्रपति को भेजे पत्र में कहा कि टप्पल कांड के दोषियों को जनता के हवाले किया जाए। छोटी बच्ची से की गई क्रूरता से पूरे देश में आक्रोश है।गौरतलब है कि अलगीढ़ के टप्पल इलाके में पैसे के लेन-देन को लेकर हुए विवाद के कारण ढाई साल की एक बच्ची की हत्या करके उसका शव कूड़े के ढेर में डाल दिया गया था।