लड़कियों की स्वतंत्रता से बढ़ रही है अपहरण की घटनाए - डीजीपी एमपी

 07 Jul 2019  33

संवाददाता/in 24 न्यूज़।

एक तरफ सरकार महिला सुरक्षा को लेकर ठोस कदम उठाने के दावे कर रही हैं वही मध्य प्रदेश में लड़कियों की किडनैपिंग और महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अपराध पर डीजीपी वीके सिंह का दिया एक बयान सुर्खियों में है. उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि आज कल एक नया ट्रेंड आईपीसी की 363 कू रूप में दिख रहा है. लड़कियां स्वतंत्र ज्यादा हो रही हैं. आज के समाज में लड़कियों की बढ़ती स्वतंत्रता एक तथ्य है. ऐसे मामलों में बढ़ोंतरी हुई है जिसमें वो घर से चली जाती है और रिपोर्ट दर्ज होती है किडनैपिंग की. डीजीपी का ये बयान ग्वालियर चंबल दौरे के दौरान आया है जब वो महिला संबंधी अपराधों पर जागरूकता के लिये तीन दिनों के संभाग के दौरे पर हैं.राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो  के पास आखिरी उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, 2016 में मध्य प्रदेश में बच्चों के खिलाफ अपराध और अपहरण के 6016 मामले सामने आए हैं हाल ही में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर राज्य में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराध को रोकने के लिए 800 करोड़ के केंद्रीय अनुदान की मांग की है. बीजेपी प्रवक्ता राहुल कोठारी ने इस "गैर जिम्मेदाराना बयान" के लिए डीजीपी को नसीहत देते हुए कहा है "उन्हें इस तरह के सामान्य और गैर जिम्मेदाराना बयानों से बचना चाहिए. वह राज्य पुलिस के प्रमुख हैं. राज्य में महिलाओं के प्रति अपराध बढ़ रहा है, पुलिस उसे रोकने में नाकाम है,