कानपुर में नाबालिग रेप पीड़िता ने की आत्महत्या

 08 Dec 2019  44

संवाददाता/in24 न्यूज़।

उत्तर प्रदेश के कानपुर रूरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले इलाके में एक नाबालिग लड़की के साथ उसके ही गांव के तीन युवकों ने 3 दिन तक बंधक बनाकर उसके साथ सामूहिक बलात्कार की वारदात को अंजाम दिया सूत्रों के मुताबिक आरोपियों के चंगुल से किसी तरह पीड़िता भाग निकली और अपने परिजनों के पास पहुंच कर उसने अपनी आपबीती बताई जिसे सुनने के बाद पीड़िता के परिजनों के पैरों तले जमीन खिसक गई जिसके बाद परिवार वाले बेटी को लेकर पुलिस थाने पहुंचे।पीड़िता के परिजनों की यदि माने तो पुलिस ने मामला दर्ज करने की बजाय उनकी बेटी को ही कई दिनों तक थाने में रखा और उसका मेडिकल कराया लेकिन आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की.परिजनों का यह भी आरोप है कि जब पीड़िता पुलिस थाने से अपने घर पहुंची तो उसके बाद भी कथित आरोपियों ने पीड़िता के परिजनों पर दबाव बनाना जारी रखा और जब उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस से करनी चाहिए तो पुलिस ने कार्रवाई करने की बजाय उल्टा समझौता करने के लिए पीड़िता के परिजनों पर ही दबाव डाला.न्याय न मिलता देख पीड़िता के परिजनों ने उसे उसकी बहन के यहां कानपुर भेज दिया जहां 8 दिन तक रहने के बाद भी पुलिस के द्वारा कोई न्याय नहीं मिला तो पीड़िता ने किसी बहाने अपनी बहन को घर के बाहर भेजा और फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली पीड़िता की मौत के बाद उसके परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है इतना कुछ होने के बाद भी हैरान कर देने वाली बात यह है पीड़ित परिवार के घर पुलिस का कोई आला अधिकारी नहीं पहुंचा और अब पुलिस महकमे के आला अधिकारी मामले में तत्काल कार्रवाई की बात कर रहे हैं लेकिन सबसे बड़ा सवाल वही यदि समय रहते तथाकथित आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई हुई होती तो आज गैंगरेप की नाबालिग पीड़िता जिंदा होती इस सनसनीखेज वारदात में उत्तर प्रदेश पुलिस की कार्यशैली पर एक बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है..