बहन की शादी के लिए भाई ने मालिक को लूटा 

 10 Mar 2017  568
ब्यूरो रिपोर्ट / in 24 न्यूज़, मुंबई
मुंबई - घर की तंगहाली और छोटी बहन की शादी की चिंता ने भाई को जुर्म करने पर मजबूर कर दिया। बड़े भाई और छोटे भाई ने मिलकर पैसे लूटने की योजना बनाई थी। पुलिस की कड़ी पूछताछ के बाद आरोपी भाइयों ने ग़ुनाह कबूल कर लिया और 9 लाख रुपये की लूट की पूरी कहानी आरे पुलिस को बताई।  पुलिस ने दोनों सगे भाइयों को लूटपाट और पुलिस को गुमराह करने के आरोप में गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपी भाइयों के पास से 8,75,810 रुपये बरामद किए हैं, जिसकी जांच अभी चल रही है।
जोन-12 के डीसीपी किरण कुमार चव्हाण के मार्गदर्शन में दिंडोशी डिविजन के एसीपी ज्ञानेश्वर जवलकर और सीनियर पीआई विजय ओउल्कर की टीम ने घटना का भंडाफोड़ किया। आरे पुलिस का कहना है कि सात मार्च  को शिकायतकर्ता सज्जन यादव ने शिकायत दर्ज करवाई थी, आरे कॉलोनी की यूनिट नंबर-32 में कुर्ला से गोरेगांव आते सज्जन की कार को अज्ञात मोटर साइकिल सवार बदमाशों ने रोक कर उसके पास मौजूद 9 लाख रुपये से भरे बैग और मोबाइल फोन बंदूक दिखाकर लूट लिया। पुलिस ने सज्जन की बात सुन कर मामला दर्ज कर लिया और तफ्तीश शुरू कर दी।
 
जांच के दौरान पता चला कि सज्जन रेलवे ठेकेदार के पास काम करता है और अपने मालिक का खास आदमी है। इसीलिए उसके मालिक ने हमेशा उस पर भरोसा कर के लाखों रुपये लाने और ले जाने की जिम्मेदारी सौंप रखी थी। आरे पुलिस का यह भी कहना है, कि कुर्ला से लेकर मरोल होते हुए वह जिस गाड़ी से गोरेगांव आया था, उसका सीसीटीव फुटेज पुलिस से खंगाला तो पता चला कि कोई भी आदमी मोटर साइकिल से पीछा करते हुए नहीं दिखा। पुलिस ने सज्जन से कड़ी पूछताछ की तो वह बात घुमा फिरा कर जवाब देने लगा। इस आधार पर पुलिस का संदेह शिकायतकर्ता पर और बढ़ गया.