2019 के चुनाव के लिए उम्मीदवारों की तलाश शुरू

 08 Oct 2018  62
in24न्यूज़/ मुंबई-  आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव को देखते हुये सभी राजनीतिक दल चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं और उम्मीदवारों की तलाश शुरू कर दी  गई है. 
इसी क्रम में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और शिवसेना भी शामिल हैं. चरणबद्ध तरीके से चलने वाले इस अभियान में राकांपा उन लोकसभा क्षेत्रों का आकलन कर रही है जिन सीटों पर 2014 के चुनाव में वो दूसरे या तीसरे नंबर पर थी. मिली जानकारी के अनुसार 2019 में लोकसभा चुनाव लड़ने के लिये राकांपा के दिग्गज और बड़े नेता इच्छुक बताये जा रहे हैं जो चुनाव लड़ने की तैयारी में जुट गये हैं. बीते 2014 की लोकसभा चुनाव में सातारा लोकसभा सीट से चुनाव जितने वाले उदयनराजे भोसले वर्तमान में राकांपा से सांसद हैं लेकिन 2019 के चुनाव में भोसले की उम्मीदवारी का जोरदार विरोध हो रहा है जो राकांपा के लिये मुश्किल पैदा कर सकता है. वहीं मिली जानकारी के मुताबिक राकांपा के वरिष्ठ नेता व विधानपरिषद सभापति रामराजे निंबालकर 2019 में सातारा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के लिए इच्छुक हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता व राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार के बेटे की पुणे लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की चर्चा पर राकांपा प्रमुख शरद पवार ने यह कहते हुये पूर्ण विराम लगा दिया कि पवार के ही परिवार के लोग चुनाव लड़ेंगे तो पार्टी के  संगठन में काम करने वाले को कब मौका मिलेगा! वहीं केन्द्र और राज्य सरकार की सहयोगी दल शिवसेना भी 2019 की चुनाव की तैयारी में जुट गयी है और आगामी चुनाव को गंभीरता से लेते हुये रविवार को मातोश्री में शिवसेना पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और सांसदों की बैठक बुलायी जिसमें 2019  लोकसभा चुनाव में भाजपा से अलग लड़ने और जीतने की रणनीति पर चर्चा हुई. साथ ही पार्टी के नेताओं ने इस बैठक में अपनी बात रखी जिसमें कहा गया कि भाजपा चुनाव सर्वेक्षण कराकर शिवसेना पर गठबंधन के लिए दबाव बनाना चाहती है, लेकिन इससे पार्टी को हताहत होने और सर्वेक्षण के दबाव में आने की जरूरत नहीं है, बल्कि पार्टी नेतृत्व को कार्यकर्ताओं और संगठन के पदाधिकारियों के फीडबैक पर भरोसा करना चाहिए।