अशोक गहलोत और सचिन पायलट खुलकर तू-तू-मैं-मैं

 11 Jul 2019  21

संवाददाता/in24 न्यूज़। 

भारतीय जनता पार्टी लगातार सफ़लता के रस्ते पर है तो वहीं कांग्रेस में हर दिन कोई न कोई बखेड़ा सामने आ रहा है. इसी कड़ी में कर्णाटक और गोवा के बाद राजस्थान कांग्रेस में फूल की खबरें आ आरही हैं कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट आमने सामने हैं. गौरतलब है कि कर्नाटक और गोवा के बाद अब राजस्थान कांग्रेस में फूट पड़ गई है. केंद्र में एनडीए की सरकार बनने के बाद से कई राज्यों में खींचतान शुरू हो गई है. अशोक गहलोत और सचिन पायलट अब खुलकर आमने-सामने आ गए हैं. सचिन पायलट कह रहे हैं कि जनता ने अशोक गहलोत के नाम पर वोट नहीं दिया और ऐसा ही आरोप अशोक गहलोत भी सचिन पायलट पर लगा रहे हैं. राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के बारे में कहा जाता है कि उन्हें पता है कि कब, कहां और कितना बोलना है. बजट पेश करने के बाद अशोक गहलोत ने सीएम बनने के 8 महीने बाद आखिरकार उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को साफ कर दिया कि वह राजस्थान का मुख्यमंत्री बनने का मंसूबा ना पालें. अशोक गहलोत ने कहा कि विधानसभा चुनाव में लोगों ने उनके नाम पर वोट दिए हैं. इसके चलते कांग्रेस ने उनको मुख्यमंत्री बनाया है. किसी और के नाम पर वोट नहीं मिले हैं. जो मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में भी नहीं थे वह भी अपना नाम आगे ला रहे हैं. दरअसल, कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के मुख्यमंत्री बनने के छुपे हुए अभियान से परेशान हैं और बजट पेश करने के बाद इस मुद्दे पर आरपार करने के मूड में हैं. अशोक गहलोत ने इशारों-इशारों में साफ कर दिया है कि मैं ही राजस्थान का बॉस हूं.