भारतीय रेलवे के सुनहरे 165 वर्ष

 17 Apr 2018  17

संवाददाता/in24 न्यूज़

 

भारतीय रेलवे ने अपने 165 वर्ष पूरे कर लिए और इस अवसर पर in24 न्यूज़ की टीम ने जब मुंबईकरों से प्रतिक्रिया ली तब उन्होंने बताया कि बीते 165 वर्ष में रेलवे का आधुनिकीकरण और रेलवे कनेक्टिविटी में काफी सुधार हुआ है। हालांकि कुछ बदलाव अब भी करना बाकी है, जैसे सीट कन्फर्म न होना और टिकट की काला बाजारी, साथ ही रेल दुर्घटना पर लगाम लगाने के लिए सरकार और रेलवे प्रशासन को मिलकर कोई ठोस कदम उठाने चाहिए।

आपको बता दें कि अब भी देश भर  में ऐसे कई रेलवे क्रॉसिंग हैं जहां पर बैरिकेड नहीं लगाया है जिसकी वजह से कई दुर्घटनाओं की खबर से हम आए दिन रूबरू होते रहते हैं। रेलवे में सुरक्षा को लेकर भी मुंबईकरों में असंतुष्टि देखी गई क्योंकि ट्रेनों में कई वारदात अब भी बदस्तूर जारी है जिसकी वजह से यात्री अपने आप को महफूज़ नहीं पाते।

हालांकि सरकार बुलेट ट्रेन और हाई स्पीड ट्रेनों की योजनाएं बना रही है लेकिन भारत में अब भी रेलवे इंफ्रास्ट्रक्चर जस की तस है। कई रेलवे ब्रिज 100 वर्ष पुराने हैं जिनका मेंटेनेंस करना बाकी है। बहरहाल भारतीय रेल ने काफी प्रगति की है लेकिन आधुनिकीकरण में और काम करना बाकी है, उसके बाद ही भारत का हर कोना इस रेलवे की तार से जुड़ पाएगा।