मैच फिक्सिंग में आया कर्नाटक प्रीमियर लीग का नाम, कई गिरफ्तार

 07 Nov 2019  23

संवाददाता/in24 न्यूज़.    
क्रिकेट की दुनिया में आज खिलाडियों को कमाई के लिए खेल के अलावा भी अनेक विकल्प उपलब्ध हैं, मगर इसके बावजूद मैच फिक्सिंग का मामला अबतक पूरी तरह ख़त्म नहीं हो पाया है. गौरतलब है कि कर्नाटक प्रीमियर लीग इस बार मैच फिक्सिंग के कारण बदनाम हो रही है. इस लीग में मैच फिक्सिंग को लेकर अभी तक कई चौं‌काने वाले खुलासे हुए है. इतना ही नहीं इस सिलसिले में कई लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है. बेंगलुरु क्राइम ब्रांच ने बुधवार तक इस मामले में अब तक एक टीम के मालिक, एक कोच और एक बल्लेबाजों को गिरफ्तार किया है. वहीं गुरूवार को दो खिलाड़ियों के और गिरफ्तार होने की जानकारी आ रही है. गुरुवार को जिन क्रिकेटरों के गिरफ्तार होने की खबर आई उनमें से एक क्रिकेटर रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु का हिस्सा रह चुका है तो दूसरा मुंबई इंडियंस का सदस्य रह चुका है. इन दोनों बल्लेबाजों पर पैसे लेकर धीमी बल्लेबाजी करने का आरोप है. बता दें, जिस मुकाबले में इन दोनों बल्लेबाजों पर धीमी बल्लेबाजी करने का आरोप हैं वो केपीएल के इस सीजन के खिताबी मुकाबला था जिसमें हुबली और बेल्लारी टीम एक दूसरे के आमने सामने थी. दोनों खिलाड़ियों केपीएल के इस सीजन में बेल्लारी के लिए खेले थे. जिन खिलाड़ियों को गिरफ्तार किया गया है उसमें सी एम गौतम और अबरार काजी है. सी एम गौतम जो कर्नाटक के क्रिकेटर हैं वो इस सीजन के लिए गोवा की तरफ से खेले थे और उसकी कप्तानी की थी. दूसरी तरफ अबरार काजी मिजोरम की तरफ से खेलते है. खबरों की मानें को सीसीबी के सूत्रों ने दावा किया है. हुबली और बेल्लारी के बीच फाइनल में उन्हें  धीमी बल्लेबाजी के लिए 20 लाख रुपये का भुगतान किया गया था. आगे की जांच जारी है और और गिरफ्तारियां होने की संभावना है. सी एम गौतम आईपीएल में भी खेल चुके है. गौतम आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, मुंबई इंडियंस, दिल्ली डेयरडेविल्स से खेल चुके हैं. वहीं अबरार काजी इस सीजन से पहले काजी नागालैंड के लिए खेलते थे. बता दें, इन दोनों खिलाड़ियों का चयन सैयद मुश्ताक अली टी0 के लिए भी हो चुका है.