सार्क सम्मेलन में पाकिस्तान की दोहरी नीति

 10 Dec 2018  30
संवाददाता/in24 न्यूज़।

पाकिस्तान भले ही एक तरफ रिश्ते सुधारने की बात करता है तो तरफ पीठ में छुरी भोंकना भी नहीं छोड़ता। दूसरी तरफ भारत पीओके की सरकार और उसके किसी भी मंत्री को मान्यता नहीं देता है. भारत कूटनीतिक रणनीति के चलते किसी भी अंतरराष्ट्रीय मंच पर भी इसी रणनीति के तहत काम करता है. लेकिन पाकिस्तान ने भारत के इस कदम का कड़ा विरोध किया है. हालांकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो सकी है कि भारत ने अपने इस विरोध को इस्लामाबाद में औपचारिक रूप से दर्ज किया है या नहीं. जाहिर है उसके बाद  ठोस नतीजा आ सकता है.