20 आतंकी शिविरों को पाकिस्तान ने डरकर किया बंद

 20 Jul 2019  180

संवाददाता/in24 न्यूज़.  

आतंकियों को पनाह देने के मामले में पाकिस्तान पूरी दुनिया में बदनाम हो चुका है. मोदी सरकार की दूसरी बार सरकार बनने से पाकिस्तान की दम धीरे-धीरे सीधी होती दिख रही है. ग़ौरतलब है कि फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) द्वारा ब्लैकलिस्ट किए जाने के डर ने पाकिस्तान को इस साल पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के अंदर 20 आतंकी शिविरों को बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ा है. इससे पहले एफएटीएफ ने पाकिस्तान को ग्रे- लिस्ट में डाल दिया था. पाकिस्तान को डर है कि उसपर आर्थिक प्रतिबन्ध भी लग सकता है. सरकारी आंकड़ों से पता चलता है कि इस गर्मी में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर घुसपैठ और सीमा पार कार्रवाई की कोई रिपोर्ट नहीं मिली है. एक रिपोर्ट के अनुसार खुफिया सूत्रों ने बताया कि जानकारी मिली है कि 20 आतंकी शिविरों को पाकिस्तान ने बंद करने का सुझाव दिया है. एजेंसियां कहती ताहि है कि पाकिस्तान उन्ही शिविरों से कश्मीर में आतंकी भेजता रहा है. इससे पहले जून में अमेरिका में एफएटीएफ की बैठक से पहले पाकिस्तान की ग्रे-लिस्ट में डाल दिया गया था.