कंगाल पाकिस्तान ने उधार लेने के सारे रिकॉर्ड तोड़े

 09 Oct 2019  25

संवाददाता/in24 न्यूज़.  
दुनिया के सामने कटोरा लेकर भीख मांगनेवाले पाकिस्तान की आर्थिक रूप से कमर इतनी ज़्यादा टूट चुकी है कि अब उसे लिए गए उधार के बोझ ने सताना शुरू कर दिया है. गौरतलब है कि पाकिस्तान की सत्तारूढ़ इमरान खान सरकार ने अपने कार्यकाल के पहले वर्ष में ही पैसे उधार लेने के सभी पिछले रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार वर्तमान सरकार के एक साल के शासन के दौरान देश के कुल ऋण में 7.509 ट्रिलियन (7509 अरब) (पाकिस्तानी मुद्रा) वृद्धि दर्ज की गई है. पाकिस्तानी मीडिया की एक रिपोर्ट में सूत्रों का हवाला देते हुए कहा गया कि स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान ने यह उधार डेटा प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजा है. रिपोर्ट में कहा गया है कि अगस्त 2018 और अगस्त 2019 के बीच सरकार ने विदेशी स्रोतों से 2.804 ट्रिलियन और घरेलू स्रोतों से 4.705 ट्रिलियन उधार लिया है. स्टेट बैंक के आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष के पहले दो महीनों में पाकिस्तान के सार्वजनिक ऋण में 1.43 फीसदी की वृद्धि देखी गई. संघीय सरकार का कर्ज 32.240 ट्रिलियन तक पहुंच गया है जो पिछले साल अगस्त में 24.732 ट्रिलियन था. रिपोर्ट में कहा गया है कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में सरकार का कर संग्रह 96000 करोड़ था जबकि लक्ष्य 1 ट्रिलियन था. यानी हर तरफ से आर्थिक मदद से वंचित होने के बाद पाकिस्तान की हालत पर अब कोई तरस खाने को भी तैयार नहीं है.