अश्वेत व्यक्ति की मौत के बाद अमेरिका में भड़की हिंसा

 01 Jun 2020  41
संवाददाता/in24 न्यूज़.   

अमेरिका कोरोना वायरस के बाद इन दिनों एक नए संकट से जूझ रहा है. अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड नामक अश्वेत व्यक्ति की पुलिस अधिकारी के हाथों मौत के बाद इंसाफ के लिए लोग सड़कों पर उतर आए हैं. अमेरिका के 30 शहरों में इस समय हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं.'द न्यूयॉर्क टाइम्स' की खबर के अनुसार, अमेरिका में शुक्रवार रात हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी व्हाइट हाउस के बाहर जमा हो गए. इन प्रदर्शनकारियों ने व्हाइट हाउस पर एक तरह से हमला बोल दिया था. इसके बाद व्हाइट हाउस के भीतर हड़कंप मच गया. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस दौरान व्हाइट हाउस के अंदर ही थे. इसके बाद सीक्रेट सर्विस और यूनाइटेड स्टेट्स पार्क पुलिस के अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों को व्हाइट हाउस की तरफ आगे बढ़ने से रोका. व्हाइट हाउस तक प्रदर्शनकारियों के पहुंचने पर डोनाल्ड ट्रंप की टीम के सदस्य तथा सुरक्षाकर्मी भी हैरान थे. हालांकि अभी यह पता नहीं चल पाया है कि ट्रंप के साथ उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप तथा सलाहकार बैरन ट्रंप भी बंकर में ले जाए गए थे या नहीं. गौरतलब है कि अमेरिका में पिछले कई दिनों से वॉशिंगटन समेत 40 शहरों में कर्फ्यू लगा हुआ है. अश्वेत अफ्रीकन-अमेरिकन नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद अमेरिका की सड़कों पर लगातार प्रदर्शन हो रहा है. दरअसल, पिछले सोमवार को एक रेस्टोरेंट में सिक्योरिटी गार्ड का काम कर रहे जॉर्ज फ्लॉयड को जालसाजी के आरोप में पुलिस ने पकड़ा था. इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हुआ था. इस वीडियो में दिख रहा है कि जॉर्ज ने गिरफ्तारी के समय किसी तरह का विरोध नहीं किया था. इस दौरान पुलिस उसे हाथों में हथकड़ी पहनाकर जमीन पर लिटाई हुई थी. एक पुलिस अधिकारी उसकी गर्दन को घुटनों से दबाता दिख रहा है. वीडियो में सुनाई दे रहा है कि जॉर्ज कहता है कि वह सांस नहीं ले पा रहा है, इसके बाद भी अधिकारी उसकी गर्दन से अपना घुटना नहीं हटाता. इसके बाद कुछ देर में जॉर्ज बेहोश हो जाता है. उसे अस्पताल ले जाया जाता है जहां उसे मृत घोषित कर दिया जाता है. जॉर्ज की मौत के बाद से ही लोग आक्रोशित हो गए हैं. अमेरिका की सड़कों पर लोग रंगभेद की बात कहकर निकल आए हैं और शहरों में बवाल शुरू हो गया है. जैसे ही अधिकारियों को प्रदर्शनकारियों के इकट्ठा होने की सूचना मिली, वैसे ही व्हाइट हाउस के सुरक्षा अधिकारियों ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को छिपा लिया. अधिकारी राष्ट्रपति ट्रंप को व्हाइट हाउस में बने एक अंडरग्राउंड बंकर में ले गए. इस दौरान ट्रंप को बंकर के अंदर कम से कम एक घंटे तक रखा गया.