मुंबई के धारावी में कोरोना का ख़ौफ़ हुआ कम

 09 Jun 2020  79

संवाददाता/in24 न्यूज़.
देश की आर्थिक राजधानी में कोरोना का कहर अब भी जारी है पर संतोष की बात है कि एशिया का सबसे बड़ा स्लम धारावी में एक सप्ताह में किसी भी कोरोना मरीज़ की मौत नहीं हुई है. इसके साथ ही पॉजिटिव केस की संख्या में भी कमी दर्ज की गई है। बृहन्मुंबई महानगर पालिका के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, एक जून को धारावी में कोरोना के 34 पॉजिटिव मामले आए थे, जबकि 7 जून को कुल 13 मामले सामने आए।  इसके अलावा, 6 जून को धारावी में केवल 10 मामले सामने आए। 5 जून को 17  मामले और 4 जून को 23 मामले सामने आए। ऐसे में आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, धारावी में कोरोना के मामलों की कर्व में गिरावट दिखाई देने लगी है। धारावी में 7 जून तक कोरोना के 1,912  मामले सामने आए हैं। 30 मई से संक्रमण के कारण यहां एक भी मौत नहीं हुई है।  बीएमसी के आंकड़ों के मुताबिक धारावी की आबादी 8.5 लाख है। क्षेत्र के कुल 8,500 लोगों को विभिन्न स्थानों पर सरकारी क्वारंटाइन फैसलिटी में रखा गया था। बीएमसी ने 4,000 लोगों का टेस्ट किया है, जबकि धारावी में स्थापित बुखार शिविरों के माध्यम से 1,350 लोगों का परीक्षण किया गया। मध्य मुंबई में स्थित यह स्लम कोरोना संक्रमण का केंद्र बन गया था। राष्ट्रीयव्यापी लॉकडाउन लागू होने के एक सप्ताह बाद एक अप्रैल को यहां पहला मामला सामने आया था। धारावी में 29 अप्रैल को रेकॉर्ड कोविड-19 के 91 केस आए थे। 7 मई को इलाके में 84 केस सामने आए। असिस्टेंट म्युनिसिपल कमिश्नर किरन दिघावकर ने बताया कि फीवर कैंपों में लोगों की स्क्रीनिंग की गई। उन्हें आइसोलेट किया गया, जिससे यहां कोरोना मरीजों की संख्या में कमी आई है। समय से इलाज मिल पाने के कारण मृत्युदर घटी है। मुंबई में सोमवार को कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 50085 हो गया। वहीं, बीते 24 घंटे में 1311 नए संक्रमित सामने आए जबकि, 64 लोगों की मौत हो गई। इससे मुंबई में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1702 हो गई है।