कोरोना से बचने के लिए पूजा में शराब

 13 Jun 2020  96

संवाददाता/in24 न्यूज़.  
जब दौर संकट का हो तब उससे बचने के लिए लोग अपने इष्टदेव को प्रसन्न करना चाहते हैं ताकि उन्हें समस्या से छुटकारा मिल सके. कोरोना के इस संक्रमण काल में ऐसे भी भक्त हैं जिन्होंने देवी की प्रतिमा के समक्ष पूजा के दौरान शराब चढ़ाई। बता दें कि उज्जैन में कोरोना को खत्म करने के लिए शनिवार को नजर पूजा की जा रही है। कलेक्टर आशीष सिंह और एसपी मनोज सिंह ने सुबह आठ बजे चौबीस खंबा माता मंदिर में माता महामाया व महालया को मदिरा अर्पित कर इस नगर पूजा की शुरुआत की। यह पूजा रात आठ बजे तक चलेगी, जिसमें शहर में स्थित 40 से अधिक देवी मंदिरों में शराब अर्पित की जाएगी। गौरतलब है कि उज्जैन में हर साल शारदीय नवरात्रि की महाअष्टमी के अवसर पर नगर की खुशहाली, सुख-समृद्धि और रोग निवारण के लिए नगर पूजा का विधान है, लेकिन यह पहला अवसर है जब कोरोना जैसी महामारी को समाप्त करने के लिए शारदीय नवरात्रि के स्थान पर आषाढ़ माह की अष्टमी को यह नगर पूजा की जा रही है। इस नगर पूजा के दौरान निर्धारित शारीरिक दूरी के साथ-साथ शासन की गाइड लाइन के नियमों का पालन किया जा रहा है। पूजन से पहले मंदिर में घंटियां आदि उतरवा दी गई थीं, ताकि संक्रमण न फैले। दल में शामिल सदस्य मास्क आदि भी लगाए हुए हैं। कलेक्टर-एसपी ने शनिवार सुबह चौबीस खंबा माता मंदिर में माता महामाया व महालया को शराब अर्पित की और इसके साथ ही नगर पूजा की शुरुआत हुई। इस अवसर पर कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। इसके बाद अधिकारियों का दल शहर के विभिन्न कोनों पर स्थित 40 से अधिक देवी और भैरव मंदिरों में पूजा के लिए रवाना हुआ। इस नगर पूजा के दौरान शहर में 27 किलोमीटर लंबे मार्ग पर स्थित इन मंदिरों में मदिरा का भोग लगाया जाएगा और रात 8 बजे गढ़कालिका क्षेत्र स्थित हांडी फोड़ भैरव मंदिर में भगवान भैरवनाथ को शराब अर्पित कर इस पूजा का समापन होगा।