खुद को हड्डियों का स्पेशलिस्ट बताने वाला डॉक्टर निकला मसाला व्यापारी

 14 Jan 2022  195

संवाददाता/ in24 न्यूज़ 

मुंबई (mumbai) से सटे पालघर (palghar) जिले के वसई इलाके में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए एक फर्जी डॉक्टर का पर्दाफाश किया है। वसई पुलिस ने मसाला व्यापारी से फर्जी अर्थोपेडिस्ट सर्जन बने डॉक्टर को सलाखों के पीछे भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक यह डॉक्टर खुद को एमएस ऑर्थो सर्जन बताता था। और फर्जी तरीके से मरीजों के जॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी और रीढ़ की हड्डी का इलाज करता था। फर्जी डिग्री (fake degree) लेकर डॉक्टर बने इस शख्स का नाम हेमंत पाटील उर्फ हेमंत सोनावणे बताया जा रहा है. जिसके खिलाफ वसई-विरार मनपा के सरकारी डॉक्टर ने वसई पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस ने मनपा के डॉक्टर से मिली शिकायत के आधार पर जब हेमंत की डिग्री की जांच की, तो पाया कि उसकी सभी डिग्री पूरी तरह से फर्जी निकली। यह डॉक्टर साल 2018 से ही वसई नाका परिसर में मौजूद पॅरेडाईज इमारत में अवैध रूप से अपना अस्पताल चला रहा था, वहीं मामला दर्ज होने की खबर लगते ही आरोपी डॉक्टर मौके से फरार हो गया था, जिसकी तलाश में लगातार पुलिस की टीम जुटी हुई थी और आखिरकार वसई पुलिस ने मामला दर्ज होने के 7 दिन बाद फर्जी डॉक्टर को ठाणे से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने आरोपी डॉक्टर को अदालत के समक्ष पेश किया। जहां कोर्ट ने आरोपी को 18 जनवरी तक पुलिस रिमांड में भेज दिया है ताकि इस पूरे मामले की पुलिस तह तक जांच कर सके, क्योकि गिरफ्तार फर्जी डॉक्टर के गलत इलाज के कारण कई मरीजों आज भी बेड पर अपाहिज की तरह अपना जीवन जीने को मजबूर है |