देशद्रोह के आरोप से मुक्त हो सकते हैं हनीप्रीत और राम रहीम

 18 May 2018  73

संवाददाता/in24 न्यूज़

सलाखों के पीछे मौजूद बलात्कारी बाबा गुरमीत राम रहीम और उसकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत पर से देशद्रोह के आरोप हट सकते हैं. आपको बता दें कि हनीप्रीत पर पंचकूला में हिंसा भड़काने का आरोप लगा था, लेकिन कोई पुख्ता सबूत नहीं मिलने की वजह से पंचकूला हाईकोर्ट के सभी आरोप हटाए जा सकते हैं। 

हनीप्रीत और 14 अन्य डेरा समर्थकों के खिलाफ आईपीसी की धाराओं 150, 153, 121, 121ए और 120बी के तहत देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने के आरोप में केस दर्ज हैं. उन पर यह आरोप है कि हनीप्रीत ने राम रहीम के नजदीकी रहे और अब तक फरार चल रहे आदित्य इंसा के साथ मिलकर डेरा समर्थकों की एक बैठक बुलाई थी,

जिसमें कोर्ट द्वारा राम रहीम को सजा सुनाए जाने पर हिंसा फैलाने की रणनीति तैयार की गई थी। पंचकूला हिंसा मामले में पहले से ही 53 भक्तों पर से देशद्रोह का आरोप खारिज कर दिया था। खारिज करने की मुख्य वजह उनके खिलाफ पर्याप्त सबूत का न होना माना जा रहा है।