स्वेटर के स्टिकर से सुलझी हत्या की गुत्थी

 08 Dec 2019  200
संवाददाता/in24 न्यूज़। 
माहिम के समुद्र तट पर सूटकेस में पाए गए मानव अंगों की गुत्थी क्राइम ब्रांच यूनिट एक ने सुलझा ली है.मुंबई पुलिस ने शनिवार को 59 साल के वृद्ध की हत्या करने और उनके शरीर के अंगों को डिस्पोज करने, काटने और बैग में भरने के बाद सूटकेस को नदी में फेंकने के आरोप में एक नाबालिग लड़के समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है. जब पुलिस ने सूटकेस को बरामद किया, तो उन्हें आदमी का पैर, एक हाथ और शरीर का प्राइवेट पार्ट मिला.आरोप है कि बेटी कुमारी आराध्या पाटिल उर्फ रिया (19) और उसके 16 वर्षीय प्रेमी ने मिलकर 27 नवंबर को मुंबई के वकोला में द्वारका कुंज में स्थित अपने घर पर चाकू और बांस की छड़ी से पिता बेनेट रेबेलो की हत्या कर दी थी.लड़की और उसके प्रेमी ने बेनेट रेबेलो पर एक मच्छर मारने की दवा का छिड़काव भी किया क्योंकि वह चाकू मारे जाने के बाद भी जीवित थे. लेकिन पूरे प्रकरण में ट्विस्ट तब आया जब पुलिस ने छानबीन में पाया कि बेनेट रेबेलो ने रिया को गोद लिया था और उसका यौन शोषण भी किया था. बेनेट रेबेलो अपनी बेटी के नाबालिग प्रेमी होने को लेकर नाराज थे.रिया और उसके नाबालिग प्रेमी ने 27 नवंबर को बेनेट रेबेलो की हत्या कर दी. उन्होंने बेनेट रेबेलो को मारने के लिए एक चाकू और छड़ी का इस्तेमाल किया क्योंकि वह चाकू मारे जाने के बाद भी सांस ले रहे थे, इसके बाद दोनों ने मिलकर उन पर मच्छर मारने वाले स्प्रे का छिड़काव कर दिया.एक बार जब आरोपियों को विश्वास हो गया कि बेनेट रिबेलो की मौत हो चुकी है तो उन्होंने उनके शरीर के अंगों को काटने के लिए गर्म चाकू का इस्तेमाल किया.दोनों आरोपियों ने बेनेट रेबेलो के शव को टुकड़ों-टुकड़ों में काटा और एक सूटकेस समेत 3  बैग में उसे रख दिया. फिर सूटकेस को मुंबई के मीठी नदी में फेंक दिया.मीठी नदी से सूटकेस बरामद होने के बाद इस मामले की जांच के लिए मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 5 टीम का गठन किया और पूरे मामले का पटाक्षेप कर दिया.एक स्वेटर, जिसका इस्तेमाल शरीर के अंगों को ढंकने के लिए किया गया था, मामले को सुलझाने में पुलिस के लिए पहले सुराग के रूप में काम किया. कुर्ला में अल्मो मेन्स वियर दुकान का नाम स्वेटर सिला हुआ मिला. इसके बाद पुलिस को बेनेट के नाम पर एक रसीद मिली। मुंबई पुलिस ने आगे की जांच के लिए सोशल मीडिया पर इसकी तलाश की और उसे फेसबुक पर उसे ढूंढ लिया.रिबेलो की मैरून कलर की एक तस्वीर मिली जो सूटकेस में मिले स्वेटर से मेल खाता था. इन सबूतों के आधार पर पुलिस ने तय किया कि यह शख्स बेनेट रेबेलो ही है. रेबेलो का विजिटिंग कार्ड उनके एक फेसबुक पोस्ट पर मिला, जिसके जरिए पुलिस उनके घर पहुंची, जो बंद पड़ा मिला.पुलिस ने आगे जांच की तो पता चला कि वह पिछले 10 दिनों से नहीं देखा गया है. उन्हें यह भी पता चला कि वह एक गिटारवादक थे और स्थानीय गिग्स में गिटार भी बजाते थे.जांच के दौरान मुंबई पुलिस को जल्द ही पता चल गया कि रेबेलो ने रिया नाम की एक लड़की को गोद लिया था, जिसका एक प्रेमी था. पुलिस ने रिया और उसके प्रेमी के साथ लगातार पूछताछ की. पूछताछ के दौरान लड़की ने आरोप लगाया कि रिबेलो ने उनका यौन उत्पीड़न किया और उनके प्रेम संबंधों का विरोध किया.मुंबई पुलिस को एक सुटकेस मिल गया था लेकिन बाकी बैग अभी तक नहीं मिले. फिलहाल पुलिस अभी तक हत्या के पीछे के कारणों तक नहीं पहुंच सकी है और शेष 2 अन्य बैगों की भी तलाश कर रही है.हालांकि पुलिस ने इसकी पुष्टि की है कि मृतक का प्राइवेट पार्ट को बुरी तरह से क्षतिग्रस्त किया गया था. मृतक बेनेट वकोला में अकेला रहता था. उन्होंने दो बार शादी की थी लेकिन दोनों से ही तलाक हो गया था.