तबलीगी जमात के प्रमुख मौलाना साद की गिरफ़्तारी के बाद जमातियों पर नज़र

 02 Jul 2020  70

संवाददाता/in24 न्यूज़.
कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद की गिरफ्तारी के बाद अब दिल्ली पुलिस की नज़र जमातियों पर है. उसी जमात में शामिल हुए विदेशी जमातियों को उनके देश भेजने के मामले में वह पूरी सख्ती बरतती दिख रही है। गुरुवार को केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया कि गृह सचिव ने सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर विदेशी तबलीगी नागरिकों को उनके संबंधित देशों को न सौंपे जाने का अनुरोध किया है। केंद्र ने शीर्ष अदालत को बताया कि गृह सचिव ने कहा है कि विदेशी नागरिक पर्यटक वीजा पर तबलीगी गतिविधियों में शामिल पाए गए हैं। उन्हें तुरंत उनके देशों में उनके क्वारंटाइन की अवधि खत्म होने के बाद निर्वासित नहीं किया जाना चाहिए, क्योंकि उनके खिलाफ आपराधिक मामले मौजूद हैं। अपने जवाबी हलफनामे में केंद्र ने कहा कि वीजा की शर्तों के उल्लंघन के अलावा तबलीगी गतिविधियों में शामिल होकर विदेशी याचिकाकर्ताओं ने मौजूदा कोविड-19 के दौरान कई लोगों के जीवन को खतरे में डाल दिया है इसलिए वे कानूनी कार्रवाई के लिए उत्तरदायी हैं।