मजदूरी करने से मना किया तो बदले में मिली मौत

 27 Jul 2020  22

संवाददाता/in24 न्यूज़.
मजदूरों को आज भी कुछ लोग गुलामी की ज़ंजीर से बांधना चाहते हैं, मगर जब मज़दूर ही गुलामी करने से मना करे तो काम कराने वालों को चैन कैसे आ सकता है! नवादा जिले के अकबरपुर थाने के दूधली गांव के आजाद नगर टोले के 30 वर्षीय कुलेश्वर मांझी को बंधुआ मजदूरी का विरोध करने पर दबंग उपेंद्र सिंह ने बेरहमी से पिटाई कर अधमरा कर दिया। इलाज के दौरान पटना में उसकी मौत हो गई। इस घटना के विरोध में सोमवार को मृतक के परिजनों ने राष्ट्रीय उच्च पथ संख्या 31 को बरेव गांव के पास जाम कर यातायात बाधित कर दिया। मृतक की मां लखिया देवी ने बताया कि उसके बेटे उपेंद्र को दबंग उपेंद्र सिंह बंधुआ मजदूर की तरह भट्ठे पर काम करने का दबाव दे रहा था  जिसका उसके पुत्र ने विरोध किया। रविवार की शाम बधार से लौटने के दौरान उसकी जमकर पिटाई की जिससे वह अधमरा हो गया। इलाज के लिए पटना ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई। इस घटना के बाद परिजनों ने सोमवार को सड़क जाम कर यातायात बाधित कर दिया । गौरतलब है कि आज़ादी के बाद भी मज़दूरों से काम लेने वालों की मानसिकता अबतक नहीं बदल पाई है.