महंगी गाड़ियां चुराने वाला गिरोह चढ़ा पुलिस के हत्थे

 17 Oct 2020  17

संवाददाता/in24 न्यूज़.
महंगी गाड़ियां चुराने वाले एक गिरोह को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पिंपरी चिंचवड पुलिस आयुक्तालय अंतर्गत कार्यरत अपराध शाखा युनिट-1 ने बडी कार्रवाई करते हुए महंगी गाड़ियां चुराने वाले एक अंतर्राज्यीय गिरोह को सलाखों के पीछे डालने में सफल रही। बता दें कि पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश और परिमंडल जोन-2 के डीसीपी सुधीर हिरेमठ के मार्गदर्शन में अपराध शाखा की विभिन्न युनिट अपराध और अपराधियों को जड से उखाड फेंकने के अभियान में जुटी है। पुलिस के अनुसार 3 अक्टूबर को चिखली नेवाले बस्ती से एक साथ 2 बुलेट गाड़ी चोरी होने की घटना घटी। अपराध शाखा युनिट-1 के वरिष्ठ पुलिस निरिक्षक उत्तम तांगडे और उनकी जांच पथक टीम ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से आरोपियों के आने जाने का सुराग लगा। मोबाईल टॉवर के आधार पर जानकारी हासिल की गई और आरोपियों तक पहुंचने में पुलिस कामयाब रही। अमरेश किशन चव्हाण उम्र 19 डुडुलगांव, मोशी,मूलगांव कर्नाटक, किरण नुरसिंग राठोड उम्र 20 नि.साईसमर्थ नगर,मावल दोनों आरोपियों को तलेगांव में जाल बिछाकर गिरफ्तार किया गया। कडी पूछताछ के बाद आरोपियों ने स्वीकारा कि कर्नाटक के अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर पिंपरी चिंचवड शहर के विभिन्न क्षेत्रों से महंगी गाडियां चुराने का काम करते थे। हिंजवडी पुलिस थाने परिसर से मोटरसाइकिल चुराने के मामले में अपराध पंजिकृत किया गया है। सभी को 18 अक्टूबर तक पुलिस रिमांड मिली है। पिंपरी चिंचवड और पुणे परिसर से बुलेट,एम झेड,पल्सर मोटरसाइकिल चुराकर कर्नाटक के देवदुर्गा,रायचुर में जाकर गाडियों को बेचने का काम किया करते थे। आरोपियों के पास से 2 बुलेट,3 एम झेड,1 पैशन ऐसे कुल मिलाकर 8 महंगी गाडियां जिसकी कीमत 7 लाख 50 हजार बतायी गई है, पुलिस ने जब्त की है। चिखली पुलिस थाने से बुलेट, तलेगांव से एम जेड, हिंजवडी से पल्सर,पैशन, पिंपरी से पैशन मोटरसाइकिल चुराने का अपराध कबूल किया गया है। पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश,अप्पर पुलिस आयुक्त रामनाथ पोकले,पुलिस उपआयुक्त (अपराध) सुधिर हिरेमठ,सह पुलिस आयुक्त(अपराध)आर आर पाटिल के मार्गदर्शन में अपराध शाखा युनिट-1 के वरिष्ठ पुलिस निरिक्षक उत्तम तांगडे,सह पुलिस निरीक्षक गणेश पाटिल, पुलिस उप निरीक्षक कालूराम लांडगे, रविंद्र राठोड, रविंद्र गावंडे, बालू कोकाटे, अमित गायकवाड, महादेव जावले, सोमनाथ बोर्‍हाडे, सुनिल चौधरी,प्रमोद हिरलकर, सचिन मोरे,अंजनराव सोडगिर,प्रमोद गर्जे,आनंदा बनसोडे,राजेंद्र शेटे,नागेश माली की टीम ने कार्रवाई की। इस कार्रवाई के बाद और भी कई मामले सामने आ सकते हैं.