भारत को डरा रहा है कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन

 28 Nov 2021  250
ब्यूरो रिपोर्ट/in24न्यूज़
 
 
विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की शुरुआती रिपोर्ट्स बेहद चौंकाने वाली हैं। डब्लूएचओ ने इसे वैरिएंट ऑफ कन्सर्न बताया है। द. अफ्रीका के 3 प्रांतों में रोज मिलने वाले 90 प्रतिशत केस इसी वैरिएंट के हैं, जो 15 दिन पहले सिर्फ 1प्रतिशत था। वैज्ञानिकों के अनुसार यही बात सबसे ज्यादा डरा रही है। क्योंकि, अभी तक सबसे तेजी से फैलने वाला वैरिएंट डेल्टा था, जिससे दुनिया में तीसरी लहर आई थी। इसका पहला केस अफ्रीकी देश बोत्सवाना में मिला है। अब ओमिक्रॉन से नई लहर का खतरा बढ़ने लगा है, क्योंकि यह डेल्टा से 7 गुना तेजी से फैल रहा है। यही नहीं, यह तेजी से म्यूटेट भी हो रहा है। पकड़ में आने से पहले ही इसमें 32 म्यूटेशन हो चुके हैं। इसे देखते हुए यूरोपीय यूनियन के सभी 27 देशों ने 7 अफ्रीकी देशों से उड़ानों पर रोक लगा दी है। इधर, भारत में नए वैरिएंट का कोई केस नहीं मिला है। फिर भी सिंगापुर, मॉरीशस समेत 12 देशों से आने वाले यात्रियों की गहन जांच होगी। मुंबई महानगर पालिका की ओर से यह निर्णय लिया गया है कि कोई भी यात्री यदि दक्षिण अफ्रीका से मुंबई एयरपोर्ट पहुंचेगा तो सबसे पहले उसे 14 दिन की क्वारंटिन के लिए तैयार रहना होगा। फिलहाल भारत में स्थिति काबू में है और आने वाले खतरे से लड़ने की पूरी तैयारी भारत सरकार द्वारा की जा रही है । गुरुवार को देश में 10 हजार 549 नए संक्रमित मिले, जो एक दिन पहले के मुकाबले 15.6 प्रतिशत अधिक हैं। 488 मौतें हुईं। इनमें से 384 केरल में हुईं। देश में सक्रिय मरीज 1 लाख 10 हजार 133 हैं, जो कुल मरीजों के 0.32 प्रतिशत हैं और 539 दिनों में न्यूनतम हैं। देश में 49 दिन से लगातार 20 हजार से कम नए केस मिल रहे हैं। वैज्ञानिकों को वायरस का स्वभाव समझने में एक सप्ताह लगता है। वायरस के प्रति इम्युनिटी की प्रतिक्रिया पर अच्छा डेटा आने में कई सप्ताह लग सकते हैं। अभी इसकी जानकारी बहुत कम है कि यह विदेशी यात्रियों के जरिएभारत पहुंच सकता है।