नायलॉन के मांजे से पतंग उड़ाया तो खैर नहीं !

 13 Jan 2021  506
पारस बैसवारे/in24 न्यूज़/नागपुर
 
       मकर संक्रांति का पर्व आते ही पतंगबाजी बड़े पैमाने पर शुरू हो जाती है. पतंग के मांजे में फंसकर कई लोग घायल हो जाते हैं, तो कइयों की जान पर बन आती है. इसी कड़ी में महाराष्ट्र के नागपुर जिले में एक युवक का गला नायलॉन के मांजे से कट गया, जिसके चलते उसकी मौत हो गयी. मृतक युवक का नाम प्रणय ठाकरे बताया जा रहा है जो पेशे से कंप्यूटर इंजीनियर था. दिल दहला देने वाली ये घटना नागपुर के इमामवाड़ा पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आने वाले राम चौकी इलाके की है.
       
        बताया जा रहा है कि प्रणय की बहन को कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए डोमिसाइल सर्टिफिकेट की आवश्यकता थी, जिसे बनवाने के लिए प्रणय अपने पिता के साथ घर से निकला था. शाम पांच बजे के आसपास प्रणय नायलॉन से बने मांजे की चपेट में आ गया, जिससे उसका गला बुरी तरह से कट गया. गले से ज्यादा खून बह जाने की वजह से प्रणय की मौके पर ही मौत हो गयी. मृतक प्रणय के पिता इलेक्ट्रीशियन का काम करते हैं जबकि उसकी माता का नौ साल पहले ही बीमारी के चलते मौत हो चुकी है. इस घटना से पूरे इलाके में दहशत का माहौल है. आपको बता दें कि कुछ दिन पहले एक महिला का गला नायलॉन के मांजे में फंसने के चलते बुरी तरह से कट गया था जिसके बाद इलाज के दौरान अस्पताल में कथित महिला की मौत हो गयी थी. तब से प्रशासन लगातार नायलॉन के मांजे की विक्री करने वालों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रहा है, लेकिन इसके बावजूद नायलॉन के मांजे बाजार में धड़ल्ले से बिक रहे हैं. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल वही कि प्रशासन की लाख कोशिशों के बावजूद नायलॉन के मांजे की विक्री करने वालों के जेहन में कानून का खौफ क्यों नहीं है ? प्रशासन द्वारा बार-बार लोगों से अपील की जा रही है कि चाइना के बने नायलॉन के मांजे का लोग बिलकुल इस्तेमाल न करें. इससे पक्षियों के साथ साथ इंसानी जिंदगी भी खतरे में पड़ जाती है. मकर संक्रांति के अवसर पर किसी की मौत का कारण यदि पतंग का मांजा बन जाए तो मृतक के घर -परिवार, नात रिश्तेदार के जेहन में पतंग के प्रति खौफ पैदा होना भी स्वाभाविक है, इसलिए in24 न्यूज़ भी लोगों से अपील करता है कि आप पतंग अवश्य उड़ाइये लेकिन नायलॉन के बने मांजे के इस्तेमाल से बचिए वर्ना आपके मांजे से किसी की भी जिंदगी के साथ हो सकता है बड़ा धोखा !