जलयुक्त शिवार में कांग्रेस ने लगाया भ्रष्टाचार का आरोप

 22 Oct 2018  1420

संवाददाता/in24न्यूज़।
मुंबई- महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस की महत्वाकांक्षी योजना जलयुक्त शिवार में कांग्रेस ने भ्र्ष्टाचार का आरोप लगाया है. महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि जलयुक्त शिवार योजना पर हुये खर्च की जांच होनी चाहिए जिससे दूध का दूध और पानी का पानी हो सके. राज्य की फड़णवीस सरकार पर तंज कसते हुये कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सरकार कहती है कि जलयुक्त शिवार योजना के कारण राज्य में 16 हजार गांव सूखामुक्त और 9 हजार सूखा मुक्त होने की राह पर हैं. योजना पर 7,459 करोड़ रुपये की लागत से  5 लाख 41 हजार 91 कार्य पूरा किया गया है जबकि 20 हजार प्रोजेक्टों पर काम जारी है. योजना में बड़ी संख्या में  होने वाले टैंकर के इस्तेमाल में 80 फीसदी की कमी आयी है. कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि आज राज्य के 201 तहसीलों के 20 हजार गांवों में सूखे की स्थिति है. इससे  यह साबित होता है कि जलयुक्त शिवार योजना में भारी भ्रष्टाचार हुआ है. एक सर्वे के मुताबिक़ बीते पांच साल की तुलना में इस साल 365 में 252 तहसीलों के 13,984 गांवों में भूजल स्तर 3 मीटर से ज्यादा, 3 हजार 430 गांवों में 2 से 3 मीटर और 7 हजार 212 गांवों में 1 से 2 मीटर से नीचे चला गया है. इससे यह साफ होता है कि जलयुक्त शिवार योजना  से कोई लाभ नहीं हुआ है.