गहलोत पर पायलट ने फिर फोड़ा लेटर बम

 13 Sep 2020  19

संवाददाता/in24 न्यूज़.
राजस्थान सरकार में एकबार फिर सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ लेटर बम फोड़ा है. पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने राज्य की सरकारी नौकरियों में अति पिछड़ा वर्ग (एमबीसी) को पांच प्रतिशत आरक्षण देने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि चुनावी घोषणा के बावजूद यह आरक्षण अभी तक लागू नहीं किया गया है। पायलट ने अपने पत्र में लिखा है कि मेरे संज्ञान में लाया गया है कि राज्य सरकार द्वारा निकाली गई भर्तियों में एमबीसी समाज को पांच प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया जा रहा है। पूर्व उपमुख्यमंत्री का यह पत्र शनिवार को मीडिया में जारी हुआ। उन्होंने लिखा है कि पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2018 और रीट भर्ती 2018 में भी पांच प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया गया। पायलट ने कहा है कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से आए प्रतिनिधिमंडलों ने उनसे मिलकर और प्रतिवेदनों के जरिए इस मुद्दे को उठाया है। इसके अलावा पायलट ने देवनारायण बोर्ड व देवनारायण योजना के तहत आने वाले विकास कार्यों के ठप होने का भी जिक्र किया है। उनके अनुसार लोग इन दोनों योजनाओं को उचित बजट आवंटन के साथ कार्यान्वित करने की मांग कर रहे हैं। पत्र में ये भी लिखा है कि वर्तमान कांग्रेस सरकार में फरवरी 2019 में सरकार एवं एसबीसीके प्रतिनिधियों के बीच हुए समझौते के अनुसार एसबीसी के लिए 4 प्रतिशत पद और प्रक्रियाधीन भर्तियों के 4 प्रतिशत अतिरिक्त पद स्वीकृत करने तथा वर्तमान में चल रही भर्तियों में 4 प्रतिशत अतिरिक्त पद विभागवार छायापद स्वीकृत करने के आदेश के बाद भी कुछ भर्तियों को छोड़कर शेष भर्तियों में पूरा 5 प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया जा रहा है। गौरतल है कि गहलोत और पायलट के विवाद को जिस तरह गांधी परिवार ने बमुश्किल रोका, उसके बाद पायलट का लेटर बम कहीं न कहीं से फिर विवाद खड़ा कर सकता है.