बिहार को पीएम मोदी देंगे 14 हजार करोड की सौगात

 20 Sep 2020  33

संवाददाता/in24 न्यूज़.  
विकास की बात आजकल राजनीति में जमकर होती है. सत्ताधारी अपनी उपलब्धियों को उजागर करते हैं तो विपक्ष अपनी भड़ास निकालने में कोई कसर नहीं वहां की गतिविधियों में दिलचस्पी छोड़ता। मगर जब बात बिहार चुनाव की हो तो पूरा देश  उसमें दिलचस्पी लेता है. बिहार चुनाव से पहले केंद्र की तरफ से बिहार के लिए तमाम घोषणाएं की जा रही हैं। 21 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार को 14 हजार करोड़ का गिफ्ट देंगे। वे 9 हाइवे प्रॉजेक्ट्स की नींव रखेंगे। इसके अलावा वे ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट सर्विस का भी शुभारंभ करेंगे। इसकी मदद से बिहार के 45 हजार 945 गांव ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट से जुड़ेंगे। यहां स्पीड काफी ज्यादा होगी। पीएम मोदी 21 सितंबर को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इन तमाम परियोजनाओं की शुरुआत करने जा रहे हैं। हाइवे प्रॉजेक्ट्स की बात करें तो 9 प्रॉजेक्ट्स की कुल लंबाई करीब 350 किलोमीटर है। इन्हें बनाने में 14 हजार 258 करोड़ की लागत आएगी। प्रॉजेक्ट्स के पूरा हो जाने से बिहार में कनेक्टिविटी की सुविधा बढ़ेगी जिससे विकास की गाड़ी रफ्तार पकड़ेगी। नरेंद्र मोदी ने 2015 में बिहार के लिए एक स्पेशल पैकेज की घोषणा की थी। यह पैकेज करीब 55 हजार करोड़ रुपये का था। पीएम मोदी ने इसकी घोषणा बिहार के इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए की थी। उस समय इसके तहत 75 प्रॉजेक्ट्स की चर्चा की गई थी। 75 में अब तक 13 प्रॉजेक्ट्स पूरे हो चुके हैं। 38 प्रॉजेक्ट्स पर कामकाज जारी है। बाकी प्रॉजेक्ट्स के लिए डिटेल्ड प्रॉजेक्ट रिपोर्ट जिसे डीपीआर कहते हैं, बोली की प्रक्रिया और सैंक्शनिंग का काम जारी है। अगर ये 75 प्रॉजेक्ट्स का काम पूरा हो जाता है तो बिहार की तमाम नदियों पर पुल बनने का काम पूरा हो जाएगा, जिससे कनेक्टिविटी स्मूद होगी। इसके अलावा सभी नैशनल हाइवे की चौड़ाई पर्याप्त होगी और वे काफी मजबूत भी होंगे। केवल गंगा नदी के ऊपर 17 पुल हो जाएंगे। पूरा काम होने के बाद औसतन बिहार में हर 25 किलोमीटर की दूरी पर एक पुल होगा। इस प्रॉजेक्ट के तहत बख्तियारपुर-राजौली सेक्शन नैशनल हाइवे 31 को फोर लेन किया जाएगा। इसका बजट 1150 करोड़ है। बख्तियारपुर-राजौली हाइवे के एनएच-31 सेक्शन को 2650 करोड़ की मदद से फोर लेन किया जाएगा। एनएच-30 पर आरा-मोहनिया सेक्शन का फोर लेन किया जाएगा। यह करीब 55 किलोमीटर लंबा है और इसका बजट 885 करोड़ है। इसी सेक्शन पर 61 किलोमीटर की दूरी फोर लेन की जाएगी और इसके लिए बजट 855 करोड़ है। नरेनपुर-पुरेना सेक्शन ऑफ एनएच-131 को 2288 करोड़ की मदद से फोर लेन किया जाएगा। पटना रिंग रोड (कन्हौली-रामनगर) को छह लेन का किया जाएगा जो नैशनल हाइवे 131 जी के तहत आता है और इसका बजट 913 करोड़ है। महात्मा गांधी सेतु के बराबर 14.5 किलोमीटर लंबा फोर लेन पुल का निर्माण किया जाएगा जिसका बजट 2926 करोड़ है। 8) एनएच-106 पर कोशी नदी पर 29 किलोमीटर लंबा फोर लेन ब्रिज तैयार किया जाएगा जिसका बजट 1478 करोड़ है। विक्रमशिला सेतु के बराबर 4.5 किलोमीटर लंबा फोर लेन नया पुल तैयार किया जाएगा,जिसका बजट 1110 करोड़ है। यह नैशनल हाइवे एनएच-131 बी पर पड़ता है। चुनाव से पहले और चुनाव के बाद बिहार की तस्वीर में विकास का कितना रंग चढ़ेगा इसका असर चुनाव परिणाम तय करेगा.