पश्चिम बंगाल में आज चौथे चरण का मतदान

 10 Apr 2021  164

संवाददाता/in24 न्यूज़.  
आज पश्चिम बंगाल में चौथे चरण के चुनाव हो रहे हैं। राज्य विधानसभा की 44 सीटों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान शुरु हो गया है। चुनाव आयोग सूत्रों के अनुसार 44 निर्वाचन क्षेत्रों के 15,940 मतदान केन्द्र बनाए गए। यहां कुल 1,15,81,022 मतदाता 373 उम्मीदवारों के भाग्य को फैसला करेंगे। शांतिपूर्ण मतदान के लिए सुरक्षा व्यवस्था कड़े इंतजाम किए गए है। राज्य में चौथे चरण में पांच जिलों के 44 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में मतदान हो रहा इनमें हावड़ा पार्ट-2 सहित दक्षिण 24 परगना पार्ट-2 और हुगली पार्ट-2, अलिपुरदौर और कूच बिहार सीटें शामिल है। दक्षिण 24 परगना जिले में महिलाओं की निर्णायक भूमिका है। जिले के 11 निर्वाचन क्षेत्रों में महिला मतदाताओं की संख्या पुरुष मतदाताओं की तुलना में अधिक है। इन 11 निर्वाचन क्षेत्रों में महिला मतदाताओं की कुल संख्या 15,70,392 और जबकि पुरुष मतदाताओं की संख्या 15,66,161 है। राज्य में चौथे चरण में भाजपा के केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो, तृणमूल कांग्रेस के राज्य खेल मंत्री अरूप विश्वास हॉट सीट टॉलीगंज से चुनावी मैदान में है। इनमें शहर पूर्व महापौर और दमकल मंत्री सोवन चटर्जी की पत्नी रत्ना चटर्जी भी हैं। सुश्री चटर्जी का भाजपा की अभिनेत्री-राजनेता पायल सरकार से मुकाबला है। पूर्व क्रिकेटर एवं तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार मनोज तिवारी शिबपुर से चुनाव लड़ रहे हैं और भाजपा सांसद और अभिनेता लॉकेट चटर्जी हुगली जिले के चिनसुराह से चुनावी मैदान में हैं। संयुक्त मोर्चो में वाम मोर्चा, कांग्रेस और आईएसएफ ने चौथे चरण के मतदान के लिए ज्यादातर युवा चेहरों को चुनाव में उतारा है। माकपा नेता सुजन चक्रवर्ती चुनाव के इस चरण के लिए वाम दलों द्वारा चुने गए कुछ वरिष्ठ नागरिकों में से एक हैं। चुनाव आयोग ने स्वतंत्र और शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित करने के लिए केंद्रीय और राज्य बलों की तैनाती के साथ विस्तृत सुरक्षा व्यवस्था की है। पश्चिम बंगाल में 44 विधानसभा क्षेत्रों में ‘संवेदनशील’ स्थिति को देखते हुए, चुनाव आयोग ने सुरक्षा बलों की कम से कम 789 कंपनियों को तैनात किया है। कूच बिहार में सबसे अधिक 187 कंपनियां तैनात की गई हैं। राज्य में इसके बाद 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को मतदान होना है। मतगणना दो मई को होगी। बतादें कि कुछ स्थानों पर हिंसात्मक घटनाएं भी हुई हैं।