मुज़फ्फरनगर में नेमप्लेट पर पुरुषों के बदले महिलाओं के नाम

 22 Oct 2020  41

संवाददाता/in24 न्यूज़  
उत्तर प्रदेश में विकास का रास्ता खुलता हुआ दिखने लगा है. अपराध से ग्रस्त मुजफ्फरनगर अब अपनी छवि सुधारने में लगा है। यहां महिलाओं के प्रति एक अलग सम्मान देखने को मिल रहा है. एक अनोखे अभियान के तहत जिले में घरों को महिलाओं के नाम किया जा रहा है। जिले में लोगों ने घर की नेमप्लेट से पुरुषों का नाम हटाकर घर की महिलाओं के नाम लिख दिए हैं। हरियाणा और पंजाब के बाद अब यूपी के जिले मुज़फ़्फरनगर में महिलाओं की स्थिति को सुधारने के लिए एक अनोखी पहल की गई। बच्चियों को सम्मान देने के लिए प्रतीक के तौर पर मुजफ्फरनगर जिले के कई घरों ने अपनी नेमप्लेट पर बेटियों के नाम लिख दिए हैं। बता दें कि ये उन जिलों में से एक है जो अपनी मजबूत पितृसत्तात्मक प्रणाली के लिए जाने जाते हैं। जिला प्रोबेशन अधिकारी मोहम्मद मुस्तकीम ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में बेटियों के नाम वाले 200 से अधिक नेमप्लेट विभिन्न गांवों में घरों के दरवाजों पर लगाए गए हैं। ये अभियान अभी भी जारी है। गौरतलब है कि महिला और बाल विकास विभाग की ओर से कुछ हफ्ते पहले शुरू किए गए एक अभियान के तहत ये पहल सामने आई है। मुस्तकीम ने कहा कि जिन परिवारों में बेटियां नहीं हैं, उन्हें नेमप्लेट में अपने घर की महिला सदस्यों के नाम लिखने के लिए कहा गया था। जैसे लोग अपनी पत्नियों या माताओं के नाम नेमप्लेट पर लिख सकते हैं। अधिकारियों ने इस पहल को अपनाने के लिए कुछ गांवों का दौरा किया और लोगों को ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित किया था, जिनमें से अधिकांश ने इस प्रस्ताव को खुशी-खुशी स्वीकार किया। गौरतलब है कि ऐसा ही एक अभियान पंजाब और हरियाणा में चलाया गया था। जहां लिंग अनुपात में खासी गिरावट आई थी। उन राज्यों में इस पहल के उत्साहजनक नतीजे देखने को मिले थे। अब उत्तर प्रदेश ने महिलाओं के खिलाफ अपराध के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए इस अभियान को अपनाया है।