खूंखार आतंकवादी हक्कानी की मौत

 04 Sep 2018  21
संवाददाता/in24 न्यूज़। आतंक की दुनिया में खौफ का दुसरे नाम से कुख्यात और हक्कानी नेटवर्क के संस्थापक जलालुद्दीन हक्कानी की मौत हो गई है. तालिबान ने बताया है कि उसकी मौत बीमारी का कारण हुई. बता दें कि हक्कानी मुल्ला उमर के बाद आतंक का दूसरा नाम माना जाता था. जलालुद्दीन अफगानिस्तान में सक्रिय आतंकवादी गुटों में से एक हक्कानी आतंकवादी संगठन का लीडर था. अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अफगान तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने जलालुद्दीन के मौत की घोषणा की. एसआईटीई ने बताया, "उसने अल्लाह के धर्म के लिए बहुत कठिनाइयों का सामना किया. साथ ही उसने अपने जीवन के आखिरी वर्षों के दौरान लंबी बीमारी का भी सामना किया." बता दें कि मुल्ला उमर की मौत के बाद तालिबान को एक रखने में हक्कानी ने बड़ी भूमिका निभाई थी. हालांकि उसने अपने नेटवर्क की स्थापना मूल रूप से सोवियत संघ के खिलाफ जिहाद के लिए की थी. इसके बाद जलालुद्दीन तालिबान सरकार में मंत्री भी बना. साल 1996 में काबुल पर कब्जा करने के बाद हक्कानी तालिबान सरकार में आदिवासी मामलों का मंत्री था.