मुंबई में कब्र घोटाला

 14 Sep 2020  22

संवाददाता/in24 न्यूज़.
भले ही आज दुनिया कोरोना के संकट का सामना कर रही है, मगर ऐसे में भी मुंबई में अजीबो गरीब घोटाला सामने आया है. ताजा मामला 1993 बम धमाकों के आरोपी रहे याकूब अब्दुल रज्जाक मेमन की कब्र को धोखे से बेचने का मामला सामने आया है। इस मामले ने पुलिस ने कब्रिस्तान के ही दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। बता दें याकूब अब्दुल रज्जाक मेमन 1993 में हुए मुंबई बम धमाके में शामिल आरोपियों में से एक था, जिसे बाद में कोर्ट ने दोषी करार दिया था और उसे नागपुर केंद्रीय जेल में फांसी दी गई थी। याकूब को 30 जुलाई, 2015 को दक्षिण मुंबई के मरीन लाइंस स्थित बड़ा कब्रिस्तान में दफनाया गया था। याकूब के चचेरे भाई मोहम्मद अब्दुल रउफ मेमन ने इसी साल मार्च महीने में दक्षिण मुंबई के लोकमान्य तिलक पुलिस मार्ग थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत में दावा किया गया है कि मेमन के परिवार को मरीन लाइंस स्थित बड़ा कब्रिस्तान में कब्र के लिए सात स्थान दिए गए हैं। लेकिन अब पता चला है कि याकूब के अलावा, परिवार के तीन और कब्रों के स्थानों को पांच लाख रुपये में बेच दिया गया। इस फर्जीवाड़े का आरोप कब्रिस्तान की देखरेख करनेवाले ट्रस्ट के एक अधिकारी और एक प्रबंधक पर लगा है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर आईपीसी की धारा 465 (फर्जीवाड़ा), 468 (ठगने के उद्देश्य से फर्जीवाड़ा) के तहत मामला भी दर्ज किया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। कब्रों के नाम पर घोटाले ने सबको चौंका कर रख दिया है.