बीजेपी का संकल्प पत्र जारी, गैस सस्ती और बिजली बिल जीरो

 14 Apr 2024  402

संवाददाता/in24 न्यूज़.
लोकसभा चुनाव 2024 के लिए भारतीय जनता पार्टी ने आज अपना संकल्प पत्र ‘मोदी की गारंटी 2024’ को जारी किया और देश में गरीब कल्याण योजनाओं एवं विकसित भारत के संकल्प को साकार करने के रोडमैप को विस्तार दिया गया है। भाजपा के केंद्रीय कार्यालय के विस्तारित भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की मौजूदगी में यह संकल्प पत्र जारी किया है। संकल्प पत्र जारी होने के बाद पीएम मोदी ने गरीब, युवा, अन्नदाता एवं नारी शक्ति सहित चार वर्गों से एक-एक व्यक्ति को ये संकल्प पत्र सौंपा। पीएम मोदी ने कहा कि दस वर्षों में भाजपा ने अपने संकल्प पत्र के हर बिंदु को गारंटी के रूप में जमीन पर उतारा है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने घोषणा पत्र की सुचिता को फिर स्थापित किया है। ये संकल्प पत्र विकसित भारत के चार मजबूत स्तंभ - युवा शक्ति, नारी शक्ति, गरीब और किसान, इन सभी को सशक्त करता है। हमारा फोकस जीवन की गरिमा एवं गुणवत्ता और निवेश से नौकरी पर है। पिछले दस वर्ष, नारी गरिमा, नारी को नए अवसरों को समर्पित रहे हैं। आने वाले पांच वर्ष नारी शक्ति की नई भागीदारी के होंगे। उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए मुफ़्त भोजन की योजना पांच साल और चलेगी, ताकि वे किसी वजह से फिर से गरीबी के जाल में नहीं फंस जाएं। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि दस साल इस बात का प्रमाण है कि मोदी की गारंटी, गारंटी पूरी होने की गारंटी है। इस संकल्प पत्र में पार्टी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ज्ञान (गरीब, युवा, अन्नदाता एवं नारी शक्ति) को लेकर आगे बढ़ रही है और 2047 तक विकसित भारत के निर्माण का संकल्प ले रही है। एक व्यक्ति, जो आज भरोसे का पर्याय बन चुका है, क्योंकि मोदी की गारंटी ही गारंटी पूरी होने की गारंटी है। आने वाले पांच साल भी सेवा, सुशासन और  गरीब कल्याण के होंगे, ये है मोदी की गारंटी। इस संकल्प पत्र को तैयार करने के लिए विकसित भारत संकल्प रथ यात्रा के दौरान के प्राप्त सुझावों, विभिन्न संस्थाओं एवं व्यक्तियों से प्राप्त सलाहों और नमो ऐप एवं ऑनलाइन माध्यमों से प्राप्त कुल करीब 15 लाख सुझावों को संकलित किया गया है। इन सुझावों की आर्थिक व्यवहार्यता का अध्ययन करने के बाद उनकी 360 डिग्री समीक्षा की गई तथा चुने सुझावों को समेकित करके उन्हें 24 विषयों में वर्गीकृत किया गया। पुन: इनमें से दस विषयों को गरीब कल्याण एवं सामाजिक विकास के वर्ग में तथा 14 विषयों को विकसित भारत के वर्ग में रखा गया है। समारोह को पीएम मोदी के अलावा राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने संबोधित किया। बता दें कि कांग्रेस ने बीजेपी द्वारा जारी घोषणा पत्र की जमकर आलोचना की है।