गहलोत सरकार को विश्वास मत में जीत हुई हासिल

 14 Aug 2020  121

संवाददाता/in24 न्यूज़. 

राजस्थान में लगातार सियासी जंग के बीच गहलोत सरकार ने विश्वास मत जीत लिया है। इसके साथ ही सदन की कार्यवाही 21 अगस्त तक स्थगित कर दी गई है। इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा और कहा कि ऐसे समय में जब पूरी दुनिया कोरोनावायरस से लड़ रही है, बीजेपी सरकार गिराने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने राजस्थान को गोवा या मध्यपदेश नहीं बनने दिया। गहलोत ने कहा कि पूरी पार्टी संगठित है और एकजुट है। इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि आज बीजेपी के लोग बगुला भगत बन रहे हैं। सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली है। मैं 69 साल का हो गया, 50 साल से राजनीति में हूं। मैं आज लोकतंत्र को लेकर चिंतित हूं। गहलोत ने कहा कि सम्माननीय नेता प्रतिपक्ष को कहना चाहूंगा कि आप चाहे कितनी भी कोशिश कर लो, मैं आपको कहता हूं कि मैं राजस्थान की सरकार को गिरने नहीं दूंगा। विश्‍वास मत प्रस्‍ताव के दौरान सरकार के पक्ष में 123 वोट, तो विपक्ष के खेमे में 75 वोट पड़े। सदन में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि विपक्ष के पास 75 की संख्या, तो सरकार गिराने का सवाल कहां से आ गया! विपक्ष ने विश्वास मत पर बहस के बाद मत विभाजन नहीं मांगा। इस वजह से यह ध्वनिमत से सरकार ने विश्वास मत जीता है। बता दें कि सचिन पायलट के व्रिदोह के बाद गहलोत सरकार पर संकट के बादल छा गए थे, लेकिन अब सरकार खतरे से बाहर है। फिलहाल राजस्थान का सियासी संकट विश्वास मत प्राप्त करने के बाद खत्म हो गया है.