केरल में मौत का खेल जारी

 02 Jun 2018  74

संवाददाता/ In24 न्यूज़ 
 
निपाह वायरस का सिलसिला केरल में अब तक जारी है। अब तक यह खबर थी कि निपाह वायरस के कारण केरल में 16 लोगो की मौत हो चुकी है. हाल ही में निपाह वायरस के कारण 2 और लोगों की मृत्यु हुई है। इसके बाद बलुसेरी स्थित एक अस्पताल में चार डॉक्टरों और नर्सों सहित कई कर्मचारियों ने एहतियाती तौर पर छुट्टी मांगी है। कोझिकोड मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल' में भर्ती कराए जाने से पहले दोनों मृतकों का इस तालुक अस्पताल में ही इलाज चल रहा था।  अधिकारी ने बताया कि अस्पताल के संचालन के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की गई है। रेसीन का निधन गुरुवार को निपाह वायरस के कारण हुआ। उसका इलाज पहले बलुसेरी अस्पताल में चल रहा था। उस समय निपाह वायरस की चपेट में आए निखिल नामक शख्स का इलाज वहां जारी था।
 
केरल की सरकार ने कोझीकुडे और मल्लापुरम में होने वाली मीटिंग्स को एक्सटेंड कर दिया है। केरल में सभी रिटन और ऑनलाइन एक्जाम को 16 जून तक पोस्टपोन कर दिया है। कोझीकुडे डिस्ट्रिक्ट ऑथोरिटी ने भीड़-भाड़ वाली जगह पर जाने से लोगों को मना किया है। कोझीकुडे में समर वेकेशन के बाद स्कूल 5 जून से शुरू होंगे। हेल्थ डायरेक्टर के अनुसार कोझीकुडे के मेडिकल कॉलेज में कई अरेंजमेंट किए गए हैं। निपाह के मरीजों के लिए 80 रूम अलग से अरेंज किए गए हैं। दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को ही विज्ञापन जारी की है जिसमें इस वायरस से बचने के सारे तरीके बताए गए हैं। दूसरे राज्यों में भी एलर्ट जारी किया गया है। अधिकारी ने बताया कि स्थानीय रोजगार विनिमय सहित कई संस्थान कुछ समय के लिए कार्यालय बंद करने की अनुमति भी मांग रहे हैं। अधिकारी के अनुसार इसका उद्देश्य लोगों को इकट्ठा होने से रोकना है। आप को बता दें कि सिर में तेज दर्द , गंभीर बदन दर्द के साथ में आंखें लाल होना, गंभीर जुकाम और दिमागी बुखार यह सब निपाह वायरस के लक्षण हैं।