नासा ने ढूंढा चंद्रयान-2 का मलबा

 03 Dec 2019  517

संवाददाता/in24 न्यूज़.  
चंद्रयान-2 की जब लॉन्चिंग हो रही थी तब पूरे देश के साथ दुनिया भर की नज़र उसपर थी, मगर बाद में जो भी हुआ सबने जाना और देखा. मगर अब पता चला है कि अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने चंद्रयान-2 का मलबा ढूंढ निकाला है. इसरो के महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान-2 का लैंडर विक्रम चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग के दौरान क्रैश हो गया था. उसके बाद से इसका कोई पता नहीं चला. करीब तीन महीने बाद नासा ने लैंडर विक्रम को ढूंढ निकाला. नासा ने मंगलवार सुबह अपने लूनर रेकॉन्सेन्स ऑर्बिटर से ली गई तस्वीर जारी की है. जिसमें विक्रम लैंडर से प्रभावित स्थान दिखाई दे रहा है. नासा ने एक बयान जारी कर कहा कि चंद्रमा की सतह पर विक्रम लैंडर मिल गया है. बता दें कि चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम को 6-7 सितंबर की सात करीब डेढ बजे चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करनी थी. लेकिन लैंडिंग के कुछ मिनट पहले ही इसका इसरो से संपर्क टूट गया. इसके बाद इसरो ने लैंडर विक्रम से संपर्क साधने की बहुत कोशिश की लेकिन कामयाबी नहीं मिली. अब करीब तीन महीने बाद अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा को लैंडर विक्रम का मलबा मिल गया है. नासा को विक्रम लैंडर का मलबा चांद की सतह पर तय लैंडिंग साइट से 750 मीटर दूर मिला है. नासा ने तस्वीर में नीले और हरे डॉट्स के जरिए विक्रम लैंडर के मलबे वाला क्षेत्र दिखाया गया है. बयान में नासा ने कहा है कि उसने 26 सितंबर को क्रैश साइट की एक तस्वीर जारी की थी और लोगों को विक्रम लैंडर के संकेतों की खोज करने के लिए बुलाया था. जिसके बाद शनमुगा सुब्रमण्यन नाम के व्यक्ति ने मलबे की सकारात्मक पहचान के साथ एलआरओ परियोजना से संपर्क किया.