गहलोत को अपनी जीत की ग़लतफ़हमी

 09 Aug 2020  54

संवाददाता/in24 न्यूज़।

राजस्थान में भले ही सियासी तूफ़ान मचा हो, बावजूद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सकात्मक सोच पर अमल कर रहे हैं.  मगर इसे बिना जीते जीत मान लेना गलतफहमी नहीं तो और क्या है! गहलोत ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में फूट पड़ गई है और उनकी जीत पक्की है। हालांकि भाजपा पर उनकी सरकार को अस्थिर करने के प्रयास करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा विधायक अपनी पोल खुल जाने से बाड़ेबंदी में जा रहे हैं।उन्होंने कहा कि भाजपा विधायकों सहित कांग्रेस छोड़ चुके नेताओं के  खिलाफ लोगों में खासा आक्रोश देखने को मिला रहा है। उन्होंने बताया कि वे भी लोगों के गुस्से को महसूस कर रहे होंगे और मुझे पूरी उम्मीद है कि उनमें से अधिकांश कांग्रेस नेता वापस लौट आएंगे। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि सभी जानते हैं कि राज्य की कांग्रेस सरकार को गिराने के लिए किस तरह हार्स ट्रेडिंग हो रही थी और हमें किस तरह अपने विधायकों को एकसाथ रोकना पड़ा।  उन्होंने कहा कि भाजपा विधायकों को राज्य की जनता की परवाह नहीं है और तीन-चार जगहों पर वे बाड़ेबंदी कर रहे हैं, लेकिन अब उनमें भी फूट पड़ गई है। अब देखना है कि गहलोत की गलतफहमी खत्म होगी या बनी रहेगी.