74 साल की मम्मी ने दिया जुड़वा बच्चियों को जन्म

 07 Sep 2019  859
संवाददाता/in24 न्यूज़।

एक औरत की पूर्णता तभी मानी जाती है जब वह मां बनती है. मगर कुछ औरतों को मां बनने के लिए अनेक मुसीबतों का सामना करना पड़ता है. मगर एक कहावत है न की जहां चाह वहां राह. गौरतलब है कि आंध्र प्रदेश की एक 74 साल की महिला ने जुड़वा बच्चियों को जन्म दिया है. गुरूवार को गुंटूर जिले में ई मंगयम्मा नाम की महिला ने अहिल्या नर्सिंग होम में जुड़वा बच्चियों की मां बनीं. मंगयम्मा की शादी करीब 57 साल पहले 17 साल की उम्र में ही हो गई थी. उन्होंने पूर्वी गोदावरी के रहने वाले किसान यरमसेत्ती राजाराव के साथ 7 फेरे लिए थे. शादी के बाद से ही मंगयम्मा और राजाराव संतान से वंचित थे. महिला ने बताया कि उन्होंने तो ये सोच लिया था कि उनका जीवन ऐसे ही बिना संतान के खत्म हो जाएगा. मंगयम्मा में 74 साल की उम्र में मां बनने की ख्वाहिश उनकी एक पड़ोसी की वजह से पूरी हुई. मंगयम्मा ने बताया कि उनके पड़ोस में एक महिला ने 55 साल की उम्र में बच्चे को जन्म दिया था. जिसके बाद उनमें 74 साल की उम्र में भी मां बनने की ख्वाहिश और मजबूत हो गई. महिला को किसी ने आईवीएफ तकनीक के बारे में बताया, जिसकी मदद से वे मां बन सकती थीं. मंगयम्मा ने आईवीएफ तकनीक के बारे में अपने पति राजाराव को बताया और उन्हें काफी कोशिशों के बाद मनाने में कामयाब हो गईं. राजाराव ने बताया कि उनके 9 महीने अस्पताल में ही बीते हैं, लेकिन अपनी गोद में बच्चियों को देखकर वे सभी दुख-दर्द और संघर्ष को भूल गए हैं. डॉक्टरों ने सबसे पहले मंगयम्मा के शरीर में किसी अन्य महिला का यूट्रस ट्रांसप्लांट किया था, जिसके बाद वे जनवरी में प्रेगनेंट हो गई थीं. उन्होंने 5 सितंबर को जुड़वा बच्चियों को जन्म दिया. डॉक्टरों ने बताया कि मंगयम्मा 74 साल की उम्र में भी बिल्कुल स्वस्थ हैं, इसलिए उनके ट्रीटमेंट में किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं आई. इतना ही नहीं जुड़वा बच्चियों को जन्म देने के बाद भी वे बिल्कुल स्वस्थ हैं और उनकी बच्चियां भी पूरी तरह से स्वस्थ हैं. हालांकि मंगयम्मा अपनी बच्चियों को स्तनपान करने में असमर्थ हैं, इसलिए वे अपनी बच्चियों को दूध पिलाने के लिए मिल्क बैंक की मदद ले रही हैं.