बॉडी रिवाइवल से किडनी हुई ठीक, बंद हुआ डायलसिस !

 03 Jan 2021  3648

संवाददाता/in24 न्यूज़/मालेगांव 

       इंसान की किडनी जब काम करना बंद कर देती हैं तो नाना प्रकार की तकलीफें भी शुरू हो जाती है जैसे पेशाब का रुकना, शरीर पर सूजन आना, शरीर में खून का कचरा बढ़ जाना आदि. ऐसे में मरीज को डॉक्टर एक ही सलाह देता है पहला डायलसिस का दूसरा किडनी प्रत्यारोपण का, लेकिन मरीज पर क्या बीतती है ये तो उसका दिल ही जानता है क्योंकि जब भी कोई अपना बीमार होता है तब उसका दर्द वही समझता है जिसके साथ वैसी परिस्थितियां निर्माण होती हैं. भाई की ज़िंदगी बचाने की ख़ुशी जब भाई के चेहरे पर नज़र आती है तब यही लगता है कि उसने पूरी ईमानदारी से अपनी ज़िम्मेदारी निभाई और साइंटिस्ट मुनीर खान की आयुर्वेदिक औषधि बॉडी रिवाइवल से कब्र में पांव लटका चुके भाई को एक नई ज़िंदगी तोहफे में दे दी. मालेगांव जिला नासिक के हारून मोहम्मद युसुफ बॉडी रिवाइवल से ठीक हुए. अपने बड़े भाई के बारे में खुश होकर बताते हैं कि हमारे भाई को किडनी की समस्या थी. इस वजह से पूरा घर-परिवार परेशान था. सबको यही लगता था कि वो बचेंगे या नहीं, उनकी सुबह होगी कि नहीं ! रात-रात भर परिवार के लोग बिस्तर पर बैठे रहते थे कि हारून की आँख बंद तो नहीं हो गई! 

          परिवार के लोगों को कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि वे करें भी तो क्या करें क्योंकि एक प्रख्यात अस्पताल के नामचीन डॉक्टर ने इलाज में 18 लाख रुपए का खर्च बताया था. परिवार के सदस्य को बचाने के लिए लोग क्या-क्या नहीं करते इसी तरह हारून मोहम्मद के परिवार वालों ने किसी तरह पैसों का इंतजाम भी कर लिया था लेकिन अचानक उन्हें मुंबई के साइंटिस्ट मुनीर खान के बारे में पता चला तो क्योंकि ये एक संयोग ही था कि जब हारून मोहम्मद के घरवालों ने साइंटिस्ट मुनीर खान के द्वारा ठीक हुए मरीजों और उनके परिजनों का टेस्टीमोनियल टीवी पर देखा. हारून मोहम्मद के परिवारजन किसी तरह पता करके साइंटिस्ट मुनीर खान के पास मुंबई पहुंचे. उन्होंने साइंटिस्ट मुनीर खान से बॉडी रिवाइवल की दो शीशी ली. पहले हफ़्ते में हारून मोहम्मद का दो बार डायलिसिस होता था, जबकि दो शीशी बॉडी रिवाइवल का सेवन करने के बाद अब हफ़्ते में एक ही बार डायलिसिस होने लगा. गौर करने वाली बात यह थी कि हारून मोहम्मद की क्रिएटिनिन पहले जहां 12 थी, बॉडी रिवाइवल लेने के बाद 6 पर आ गयी. साइंटिस्ट मुनीर खान की बॉडी रिवाइवल औषधि लेने के बाद हारून को 90 फीसदी फ़ायदा हुआ है. पहले वो बिस्तर पर पड़े रहते थे, लेकिन अब वो बाइक चलाते हैं. सीढ़ियों पर चढ़ने के बाद भी उनका दम नहीं फूलता. हारून मोहम्मद युसुफ के घर में आज जो खुशियां हैं, उसके लिए एक ही नाम काफी है साइंटिस्ट मुनीर खान की दुर्लभ आयुर्वेदिक औषधि बॉडी रिवाइवल.