Due to doubt, the relationship of many years ended, husband did a horrific incident with his wife

 12 May 2022  267

मुंबई के अंधेरी पूर्व साकीनाका इलाके से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आ रही है, जहां एक सनकी पति ने अपनी पत्नी को मौत के घाट उतार दिया वह भी सिर्फ इसलिए चूंकि उसे अपनी पत्नी के चरित्र पर शक था ... हालांकि पुलिस ने कथित हत्यारे पति को गिरफ्तार कर लिया है  ... गिरफ्तार आरोपी ने पूछताछ के दौरान पहले पुलिस को गुमराह करने का काम किया और अपने करतूत का दोष उसने अपने ही दोस्त के सिर पर मढ़ दिया ... लेकिन इस मामले में खून के एक छींटे ने मामले को शीशे की तरह साफ कर दिया, जिसके बाद पुलिस ने जब सख्ती का इस्तेमाल किया तो कथित आरोपी पति ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया  ...  मुंबई पुलिस के जोन 10 के डीसीपी महेश्वर रेड्डी की यदि माने तो मृतक महिला का नाम रीमा यादव है जिसकी उम्र 20 साल के आसपास है और वो अंधेरी पूर्व के साकीनाका स्थित खैरानी रोड की निवासी थी ....  डीसीपी महेश्वर रेड्डी के मुताबिक रीमा का विवाह मनोज प्रजापति यादव के साथ हुआ था  ... पुलिस के मुताबिक मृतक महिला और उसके पति के बीच घरेलू विवाद चल रहा था  ... सूत्रों का कहना है कि पति पत्नी के बीच विवाद इस कदर बढ़ा कि पति मनोज यादव के जेहन में अपनी पत्नी रीमा को लेकर बड़ी गलतफहमी पैदा हो गई थी और इसी के चलते वह अपनी पत्नी के चरित्र पर संदेह करने लगा था, जिसकी वजह से दोनों के बीच अक्सर अनबन होने लगा और आखिरकार डिप्रेशन में आकर 24 वर्षीय मनोज प्रजापति यादव ने अपनी पत्नी रीमा यादव की धारदार हथियार से हत्या कर दी  ... इस मामले पर साकीनाका पुलिस स्टेशन के क्राइम पीआई दिनकर राउत से मिली जानकारी के मुताबिक 18 वर्षीय शिकायतकर्ता रोहित रविदास जोकि अंधेरी पूर्व के खैरानी रोड पर सिलाई का काम करता है  ... रीमा से उसकी मुलाकात एक महीने पहले हुई थी और पति से लगातार चल रहे विवाद के बाद रीमा यादव रोहित रविदास की कंपनी में काम करने लगी और इसी बीच दोनों की दोस्ती हो गई  ... पिछले 10 दिनों से रीमा के पास जॉब नहीं होने के कारण रोहित ने उसकी खाने पीने की व्यवस्था की  .. हमेशा की तरह 9 मई की रात तकरीबन 9:30 बजे के आसपास जब रोहित खाना देने के लिए रीमा पास गया तो उसने पाया कि रीमा की खून से सनी लाश फर्श पर पड़ी है  ... खून से लथपथ रीमा की लाश को देखने के बाद रोहित ने तत्काल पुलिस से संपर्क किया, जिसके बाद जोन 10 के डीसीपी डॉक्टर महेश्वर रेड्डी के मार्गदर्शन में साकीनाका पुलिस स्टेशन के सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर बलवंत देशमुख और पुलिस सब इंस्पेक्टर उमेश दगड़े की टीम ने हत्या की वारदात के कुछ ही घंटे के भीतर आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है फिलहाल मामले की जांच जारी है