शिंदे सरकार में देवेंद्र फडणवीस का दबदबा, नागपुर समेत 6 जिलों के संरक्षक मंत्री बने |

 25 Sep 2022  175

शुभम मिश्रा, संवाददाता/in24news 

महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे सरकार के गठन के 3 महीने बाद अब अलग-अलग जिलों के संरक्षक मंत्रियों की घोषणा सरकार की तरफ से कर दी गई है. मंत्रिमंडल विस्तार के लिए 40 दिनों का वक्त लगा था और संरक्षक मंत्री की घोषणा में 96 दिनों का वक्त लगा है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का पद गवांकर उप मुख्यमंत्री बने देवेंद्र फडणवीस के हिस्से में आधा दर्जन से अधिक जिले आए हैं. देवेंद्र फडणवीस नागपुर के अलावा विदर्भ के वर्धा,अमरावती,अकोला, भंडारा और गढ़चिरौली के संरक्षक मंत्री बने हैं. बता दें कि देवेंद्र फडणवीस महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम होने के साथ-साथ आधा दर्जन से ज्यादा विभागों के कैबिनेट मंत्री भी हैं, और अब उन्हें आधा दर्जन जिलों का संरक्षक मंत्री भी बनाया गया है. दीपक केसरकर को मुंबई और कोल्हापुर का संरक्षक मंत्री बनाया गया है, वहीं देवेंद्र फडणवीस के करीबी मंगल प्रभात लोढ़ा को मुंबई उपनगर का संरक्षक मंत्री बनाया गया है. जहां एक ओर मुंबई शहर शिंदे गुट के खाते में आया, तो वही मुंबई उपनगर बीजेपी के खाते में आया. इसके अलावा चंद्रकांत पाटिल को पुणे, राधाकृष्ण विखे पाटील को अहमदनगर और सोलापुर, सुधीर मुनगंटीवार को चंद्रपुर और गोंदिया, विजय कुमार गावित को नंदुरबार, गिरीश महाजन को धुले, लातूर और नांदेड़, गुलाबराव पाटिल को जलगांव और बुलढाणा, दादा भूसे को नासिक, संजय राठौर को यवतमाल और वाशिम, सुरेश खाडे को सांगली, संदीपान भुमरे को औरंगाबाद, उदय सामंत को रत्नागिरी और रायगढ़, तानाजी सावंत को परभणी और उस्मानाबाद, रविंद्र चौहान को पालघर और सिंधुदुर्ग, अब्दुल सत्तार को हिंगोली, अतुल सावे को जालना और बीड, शंभूराज देसाई को सातारा और ठाणे का संरक्षक मंत्री बनाया गया है.