चीन के वुहान में फिर से किया जाएगा कोरोना टेस्ट

 03 Aug 2021  194

संवाददाता/in24 न्यूज़।
कोरोना महामारी के खतरे को देखते हुए चीन के वुहान में अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि मध्य चीनी शहर वुहान के सभी निवासियों का एक बार फिर से टेस्ट किया जाएगा. वुहान चीन का वही शहर है जहां सबसे पहले कोरोना वायरस के मामले सामने आये थे. अब कुछ मामले सामने आने के बाद अधिकारियों का कहना है कि पूरे शहर का एक बार फिर से परीक्षण किया जाएगा. सात मामलों के पाए जाने के एक दिन बाद, वुहान के वरिष्ठ अधिकारी ली ताओ ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा 11 मिलियन आबादी वाला शहर सभी निवासियों का व्यापक न्यूक्लिक एसिड परीक्षण तेजी से शुरू कर रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि देश में कोरोना वायरस का रिकवरी रेट अब 97.38 फीसदी है और दैनिक पॉजिटिविटी रेट 1.85 फीसदी है. वुहान के अधिकारियों ने सोमवार को घोषणा की कि शहर में प्रवासी श्रमिकों के बीच सात स्थानीय रूप से संचरित संक्रमण पाए गए थे. चीन ने पूरे शहरों के निवासियों को उनके घरों तक सीमित कर दिया है, घरेलू परिवहन लिंक में कटौती की है और हाल के दिनों में बड़े पैमाने पर परीक्षण शुरू किया है क्योंकि यह महीनों में अपने सबसे बड़े कोरोना वायरस प्रकोप से जूझ रहा है. चीन ने मंगलवार को 61 घरेलू मामलों की सूचना दी, क्योंकि नानजिंग में हवाई अड्डे के सफाईकर्मियों के बीच संक्रमण के बाद तेजी से फैलने वाले डेल्टा संस्करण का प्रकोप दर्जनों शहरों में पहुंच गया, जो देश भर में सामने आए मामलों की एक श्रृंखला है. बीजिंग सहित प्रमुख शहरों ने अब आवासीय परिसरों की घेराबंदी और संगरोध के तहत निकट संपर्क रखने के दौरान लाखों निवासियों का परीक्षण किया है. एक शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि चीन ने कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच के दूसरे चरण की विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की योजना को खारिज कर दिया है, जिसमें यह परिकल्पना भी शामिल है कि वह चीनी प्रयोगशाला से बच सकता था. डब्ल्यूएचओ ने चीन में कोरोनोवायरस की उत्पत्ति के अध्ययन के दूसरे चरण का प्रस्ताव दिया था, जिसमें वुहान शहर में प्रयोगशालाओं और बाजारों के ऑडिट शामिल थे, जिसमें अधिकारियों से पारदर्शिता की मांग की गई थी. बता दें कि वहां में जिस तरह की आशंका जताई जा रही है उससे कोरोना के खतरे का अंदाज़ लगाया जा सकता है.