ताइवान को लेकर चीन और अमेरिका आमने सामने

 03 Aug 2022  232
संवाददाता/in24 न्यूज़.

चीन अमेरिका आमने-सामने आ गए हैं। अमेरिका के प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी इस समय ताइवान दौरे पर हैं। उनकी यात्रा से चीन और अमेरिका के बीच तनाव बढ़ गया है। लगातार दोनों देशों के बीच तल्खी विश्व पटल पर दिखाई देने लगी है। इस बीच चीन की आर्मी ने ताइवान की सीमाओं के किनारे घेराबंदी की और सैन्य अभ्यास शुरू कर दिया है। वहीं, ताइवानी आर्मी ने बॉर्डर पर टू लेयर डिफेंस वॉल तैयारी की। पहली लाइन में ताइवान की थल सेना को रखा गया और दूसरी लेयर में बैटल टैंक और आर्टिलरी के अलावा कमांडो दस्ता मुस्तैद किया गया है। हालात यूक्रेन जैसे मालूम पड़ने लगे हैं। दरअसल, चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) ने सोमवार रात घोषणा की थी कि वह कई जगहों पर लाइव-फायर अभ्यास करेगी। ताइवान की सेना का कहना है कि पिछले कुछ दिनों में, चीनी खुफिया जहाजों और मिसाइल विध्वंसक को बाहरी ऑर्किड द्वीप और ताइवान के हुलिएन के पश्चिमी तट के पास देखा गया है। ताइवान की सेना हाई अलर्ट पर है, लेकिन अभी भी अपनी टू-टियर प्रणाली में “सामान्य” स्तर पर बनी हुई है। यह अभी तक तत्परता के इमरजेंसी स्तर तक नहीं बढ़ा है। वहीं चीन ने ताइवान को चारों तरफ से घेरा है और 6 जगहों पर बम बरसा शुरू कर दिया है। हालांकि यह अभी उसका सैन्य अभ्यास है। चीन की कोशिश है कि अपने सैन्य अभ्यास के जरिए अमेरिका आईना दिखाया जा सके। बीते दिन 20 से अधिक चीनी सैन्य विमानों ने ताइवान के वायु रक्षा क्षेत्र में उड़ान भरी। यानी चीन और अमेरिका ने जिस तरह ताइवान को लेकर आमने सामने हैं इससे युद्ध की संभावना से इंकार  सकता।