भारत और चीन की जनता से ट्रंप को प्यार, चाहते हैं शांति

 17 Jul 2020  38

संवाददाता/in24 न्यूज़।
प्यार और शांति का साथ हो तब ख़ुशी का माहौल खुद बी खुद बन जाता है. भारत और चीन के साथ तनावपूर्ण रिश्तों के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उन्हें दोनों देश के लोगों से बेहद प्यार है. उन्होंने कहा कि वह दोनों देशों के बीच शांति स्थापित करवाना चाहते हैं. व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेट्री केली मैकेननी ने बताया कि राष्ट्रपति ट्रंप भारत और चीन के बीच शांति स्थापित करने के लिए हर संभव प्रयास करने के लिए तैयार हैं. केली मैकनेनी ने ट्रंप के हवाले से बताया कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा है कि दोनों देशों के लोगों की भलाई के लिए शांति बेहज जरूरी है. इस शांति को पुनर्स्थापित करने के लिए ट्रंप कुछ भी करने के लिए तैयार हैं. इससे पहले अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भारत को बेहद अच्छा सहयोगी बताया था. बुधवार को उन्होंने भारत का साथ देते हुए चीन की कड़ी निंदा की थी. पोम्पियो ने कहा था कि भारत और अमेरिका बड़े साझेदार हैं. भारत के बिना विश्व में शांति की कल्पना नामुमकिन ही है. पोम्पियो ने बताया था कि उनकी भारत और चीन की सीमा पर टकराव समेत कई मुद्दों पर भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ बातचीत होती रहती है. भारत के समकक्ष विदेश मंत्री के साथ उनका बड़ा अच्छा संबंध है. उनकी अक्सर कई मुद्दों बातचीत होती रहती है. उन्होंने कहा था कि चीन के साथ सीमा टकराव के संबंध में भी दोनों देश के विदेश मंत्रियों के बीच चर्चा हुई. बता दें कि भारत और चीन के सैनिकों के बीच पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में हुए हिंसक झड़प के बाद अमेरिका और ट्रंप प्रशासन ने भारत का खुलकर सपोर्ट किया था. अमेरिकी रक्षा मंत्री ने साफ तौर पर कहा था कि संघर्ष की स्थिति में अमेरिकी सेना भारत का साथ देगी. व्हा इट हाउस के सलाहकार लैरी कुडलो ने एक दिन पहले ही भारत को अमेरिका का सबसे विश्वसनीय सहयोगी करार दिया था. ट्रंप की इच्छा  कब पूरी होती है अब इसपर दोनों देश की नज़र बनी रहेगी.