चुनाव टालने की बात पर घिरे राष्ट्रपति ट्रंप

 31 Jul 2020  29

संवाददाता/in24 न्यूज़.
अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने लोगों से ही घिर गए हैं. कोरोना के चलते राष्ट्रपति  ट्रंप के चुनाव टाले जाने के सुझाव पर उनकी अपनी पार्टी रिपब्लिकन के वरिष्ठ नेता उनके विरोध में खड़े हो गए। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने ट्रंप के गुरुवार की सुबह जारी ट्वीट के पश्चात राष्ट्रपति चुनाव टाले जाने के सुझाव को सिरे से ख़ारिज कर दिया। रिपब्लिकन बहुल सीनेट के नेता मिच मेक्नोल और प्रतिनिधि सभा में पार्टी के नेता केविन मेकार्थी ने कहा कि चुनाव टाले जाने का एकमात्र अधिकार कांग्रेस के पास है। यूएस फ़ेडरल चुनाव की मुखिया चेयर पर्सन एलन विन्तरौब ने भी मत व्यक्त किया है कि चुनाव स्थगित करने का अधिकार ट्रम्प के पास नहीं है। पूर्व रिपब्लिकन राष्ट्रपति जार्ज बुश के प्रवक्ता ने यहां तक कहा कि ट्रंप को अपना ट्वीट रद्द कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि अमेरिका में आज तक राष्ट्रपति चुनाव कभी टाले नहीं गए हैं, भले ही देश के सम्मुख विश्व युद्ध अथवा महामारी की स्थिति ही क्यों न उत्पन्न हुई हो। इसी तरह की प्रतिक्रिया डेमोक्रेटिक पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने भी व्यक्त की है। प्रतिनिध सभा में सदन की समिति की अध्यक्ष जोई लाफग्रेन ने इस सुझाव को बेहूदा बताया है।  ट्रंप ने ट्वीट कर सुझाव दिया था कि कोरोना संकट के कारण 'यूनिवर्स पोस्टल सर्विस' में किंचित व्यवधान से धोखाधड़ी की आशंका है। अमेरिका के छह राज्यों कैलिफ़ोर्निया, ऊटहा, हवाई, कोलोराडो, ओरेगन तथा वाशिंगटन ने पोस्टल मताधिकार पर योजना बना रहे है, जबकि देश के 50 राज्यों में से आधे राज्य ऐसे हैं, जो पोस्टल मताधिकार की इजाजत देते हैं। इनमें में एक बड़ा वर्ग मतदान केंद्र पर जाने के बजाए पोस्टल मताधिकार का उपयोग करता है। अमेरिका में संविधान के अनुसार राष्ट्रपति चुनाव हर चार साल बाद नवंबर के पहले सप्ताह में मंगलवार के दिन होते हैं और नवनिर्वाचित राष्ट्रपति 20 जनवरी को सत्ता की बागडोर संभालते हैं। अमेरिकी संविधान के अनुसार चुनाव स्थगित अथवा कुछ समय के लिए टाले जाने का एकमात्र अधिकार कांग्रेस के दोनों सदनों के पास है, जो संविधान संशोधन के ज़रिए संभव है। कांग्रेस के प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेटिक पार्टी और सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत है। अमेरिकी मीडिया की मानें तो ट्रंप पिछले लगातार चुनावी सर्वे में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जोई बादन से पिछड़ रहे हैं।मिच मेक्नोल और मेकार्थी के अलावा सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में टेड क्रूज और मार्क रूबियो ने भी ट्रंप के ट्वीट पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए चुनाव टाले जाने के सुझाव को बेमानी बताया है। रिपब्लिकन पार्टी के यह दोनों नेता पिछले राष्ट्रपति चुनाव में संभावित उम्मीदवार थे। अब सवाल है कि इन परिस्तिथियों से राष्ट्रपति ट्रंप कैसे निबटते हैं.