कोरोना वैक्सीन में रूस ने मारी बाज़ी

 11 Aug 2020  42

संवाददाता/in24 न्यूज़.
पूरी दुनिया कोरोना वायरस के संक्रमण से आतंकित है. ऐसे में सबसे पहले कोरोना वैक्सीन बनाने के मामले में रूस ने बाजी मार ली है. आज रूस ने कोरोना वैक्सीन का पंजीकरण भी करा दिया। रूस के राष्ट्रपति ब्लामिदिर पुतिन ने तमाम आशंकाओं के बीच वैक्सीन के पंजीकरण की घोषणा की। रूस अगले महीने तक इस वैक्सीन का उत्पादन बड़े पैमाने पर शुरू करेगा और दुनिया को यह वैक्सीन जनवरी 2021 में मिलने लगेगी। रूस के गैमालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट ने पिछले हफ्ते ही इस वैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण हजारों लोगों पर किया था। रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय का दावा है कि अगले महीने तक इस वैक्सीन का उत्पादन बड़े पैमाने पर शुरू हो जाएगा और अक्टूबर से लोगों को टीका लगाने का काम भी युद्ध स्तर पर किया जाएगा। रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने मंगलवार को सुबह एक टेलीविजन प्रसारण में कहा कि कोरोना वायरस को मारने वाला दुनिया की पहली वैक्सीन पंजीकृत कर ली गई है। उन्होंने दावा किया कि यह वैक्सीन पूरी तरह असरकारक है और इससे बनने वाली इम्यूनिटी लंबे समय तक बरकरार रह सकती है। पुतिन के मुताबिक़ उनकी दोनों बेटियों को इस वैक्‍सीन की डोज लगाई जा चुकी है। उन्‍होंने कहा कि वे दोनों ठीक महसूस कर रही हैं और किसी तरह के साइड इफेक्‍ट्स नहीं हैं। इसका पंजीकरण सर्टिफिकेट स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध है। हालांकि कुछ एक्सपर्ट एवं मल्टीनेशनल कंपनियों का दावा है कि रूस की इस वैक्सीन का अभी भी तृतीय चरण का परीक्षण नहीं हुआ है। डब्लूटीओ ने भी रूस से पिछले हफ्ते कहा था कि वैक्सीन को जारी करने की जल्दबाजी ना करें। तय मानदंडों के अनुसार पहले तृतीय चरण का परीक्षण करें, ताकि यह वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित सिद्ध हो सके। रूस के वैक्सीन बनाने की घोषणा से कोरोना संकट से जूझ रहे लोगों को आशा की किरण दिखाई दे रही है.