सौ से अधिक देशों ने दिखाई पाकिस्तान को औकात

 04 Dec 2020  44

संवाददाता/in24 न्यूज़.
अपनी नापाक हरकतों से अपना भरोसा पूरी दुनिया में खोनेवाले देश है पकिस्तान।  पाकिस्तान की ऐसी छवि बनी हुई है इसका नमूना भी यूनाइटेड नेशन्स में एक बार फिर देखने को मिला. दुनिया ने एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय मंच पर  पाकिस्तान की किरकिरी कर दी है. पाकिस्तान के संयुक्त राष्ट्र में पेश किए गए प्रस्ताव पर पहली बार आधे से अधिक सदस्यों ने मतदान नहीं किया. बता दें कि पारस्परिक और सांस्कृतिक संवाद को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान एक प्रस्ताव लेकर आया था. इसमें मत देने वाले 52 देश अनुपस्थित रहे जबकि जो देश उपस्थित रहे उनमें से 51 देशों ने मतदान ही नहीं किया. पाकिस्तान के प्रस्ताव को लेकर जिन देशों ने संयुक्त राष्ट्र में मतदान नहीं किया, उनमें से ज्यादातर अफ्रीकी देश तथा छोटे द्वीप देश थे. दरअसल, पाकिस्तान ने फिलीपींस के साथ मिलकर एक प्रस्ताव पेश किया है. 90 मतों के साथ इसे पारित किया गया. इस प्रस्ताव को लेकर भारत की अपनी चिंताएं हैं. करतारपुर साहिब कॉरिडोर को लेकर भी भारत ने कहा है कि पाकिस्तान ने किस तरह करतारपुर गुरुद्वारा के प्रशासन को एक गैर-सिख निकाय को दिया है. भारत ने कहा कि हमने करतारपुर साहिब कॉरिडोर की भावना के खिलाफ बड़े पैमाने पर पाकिस्तानी पक्ष के साथ इसका विरोध किया है. बड़े पैमाने पर सिख समुदाय की धार्मिक भावनाएं हैं. भारत ने इसके अलावा हिंदू, जैन और सिख धर्म पर भी चिंता जाहिर की है. पाकिस्तानी मिशन ने यूनाइटेड नेशन से कहा कि यह संकल्प मुस्लिम विरोधी घृणा, इस्लामोफोबिया और धार्मिक व्यक्तित्व तथा प्रतीकों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए एक राजनयिक अभियान का हिस्सा है. बहरहाल, पूरी दुनिया के सामने एक बार फिर अपना भरोसा खो चुका पाकिस्तान कब सुधरता है यह कहा नहीं जा सकता.